कानपुर, जेएनएन। पानी बर्बादी रोकने के लिए घरों के नलों और सबमर्सिबल पंपों पर मीटर लगाया जाए। जितना पानी खर्च हो उतना टैक्स वसूला जाए। साथ ही फुटपाथ व सड़क धोने वालों पर जुर्माना लगाया जाए। पानी बचाने के साथ ही कार्रवाई भी की जाए तभी लोग पानी का मूल्य समझेंगे। दैनिक जागरण के सहेज लो हर बूंद अभियान में महिलाओं और बच्चों ने पानी बचाने के टिप्स देने के साथ ही पानी बर्बाद करने वालों पर कार्रवाई करने के भी सुझाव दिए।

क्या कहते हैं जल प्रहरी

-सभी को पानी के प्रति चेतना होगा। पानी बर्बाद करने वालों पर जुर्माना लगाया जाए। विद्यालय में वह और उनकी सहेलियां बोतल में बचा पानी फेंकने के बजाए उसको पौधों में डाल देती हैं। ताकि पानी बर्बाद न हो। साथ ही कहीं भी नल खुला देखते हैं तो पहले उसको बंद करते है। -प्रियांशी दीक्षित, भाभा नगर सनिगवां

-खुद पानी बचाने के साथ ही बच्चों को भी ज्यादा से ज्यादा पानी को बचाने के लिए प्रेरित करना चाहिए। पानी बचाने की मुहिम हर घर से चलने लगे तो आने वाले समय में पानी का संकट खत्म हो जाएगा। बारिश की हर बूंद को सहेजना होगा बर्बाद नहीं होने देना है। साथ ही जलदोहन जरूरत के हिसाब से किया जाए। -अंकिता मिश्रा कल्याणपुर

-आधुनिकता की दौड़ में अनावश्यक रूप से तथा अधिक मात्रा में जल का दोहन कर रहे हैं। दैनिक उपयोग में आवश्यकता से अधिक मात्रा में जल का अपव्यय करने की आदत ने जल संकट बढ़ा दिया है। आरओ का पानी कई सालों से बचा रही हूं। -नीतू गुप्ता, केशवपुरम

-जल संरक्षण बहुत जरूरी है जो हम सभी अपने स्तर से कर रहे हैं। इसे भी अधिक पर्यावरण के प्रति जागरूकता जरूरी है, क्योंकि पर्यावरण संतुलन का सकारात्मक प्रभाव जल संरक्षण पर पड़ता है। कटते वृक्षों के कारण भूमि की नमी लगातार कम हो रही है, जिससे भूजल स्तर पर बुरा असर पड़ रहा है। पानी बर्बादी रोकने के लिए नलों व सबमर्सिबल पंपों में मीटर लगे। -डॉ, जागृति सिंह, गुमटी नंबर पांच

-आरओ के पानी को सब्जियां धोने व घर की साफ सफाई में इस्तेमाल करती हूं। गर्मी में एसी से निकलने वाले पानी को पौधों में प्रयोग करती हूं। साथ ही घर में बंद पुरानी बोरिंग को छत से जोड़ दिया है, ताकि बारिश का पानी जमीन में एकत्र हो जाए। इसके लिए छत की सफाई रखती हूं। -चेतना गुप्ता सिविल लाइंस कानपुर

-जब से घर में आरओ लगा है तब से उसका पानी बचाकर अन्य कामों में प्रयोग करतीं हूं। साथ ही रिश्तेदारों को भी बताती हूं। लीकेज को तुरन्त ठीक करती हूं। जल संरक्षण को लेकर स्कूलों में बच्चों को बताया जाना चाहिए, ताकि भावी पीढ़ी पानी के महत्व को समझे। -शिप्रा दीक्षित, गांधीनगर

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप