कानपुर, जेएनएन। विजय नगर की नूरी मस्जिद में सोमवार आधी रात के बाद लाउडस्पीकर बजाए जाने को लेकर माहौल खराब हो गया। दूसरे संप्रदाय के लोगों ने जब लाउडस्पीकर बजाए जाने का विरोध किया तो दोनों पक्ष आमने सामने आ गए। दोनों पक्षों में पथराव भी हुआ। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों पक्षों को लाठियां फटकार कर भगाया। बाद में पुलिस ने मस्जिद की इंतजामिया कमेटी और कर्बला कमेटी से जुड़े लोगों पर मुकदमा कायम किया।

सोमवार की रात 12 बजे के बाद अचानक लोगों को नूरी मस्जिद से लाउडस्पीकर की आवाज सुनाई पड़ी, जबकि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मौजूदा हालातों में मस्जिद में लाउडस्पीकर बजाने की अनुमति नहीं है। लाउडस्पीकर की आवाज गूंजते ही दूसरे पक्ष के कुछ युवा एकत्र हुए और लाउडस्पीकर बंद करने की मांग करने लगे। जवाब में दूसरे पक्ष से भी लोग एकत्र हो गए। धीरे-धीरे दोनों ओर से भीड़ जमा हो गई। इस बीच कुछ असामाजिक तत्वों ने पथराव करके माहौल बिगाड़ने की कोशिश की।

बताया जा रहा है कि इस प्रकरण में कर्बला कमेटी के एक पदाधिकारी का नाम सामने आया है, जिसने लाउडस्पीकर लगाने की सलाह दी थी। इसी बीच सूचना पर काकादेव, अरमापुर, फजलगंज आदि थानों की फोर्स मौके पर पहुंची और हंगामा कर रही भीड़ को खदेड़ दिया। पुलिस पथराव से इनकार कर रही है। एसएसपी डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि इस मामले में मस्जिद से जुड़े लोगों ने नियमों का उल्लंघन किया है। इनके खिलाफ लॉकडाउन का उल्लंघन, सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने और उपद्रव करने आदि की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस