कानपुर, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कानपुर में करीब ढाई घंटे तक जमकर बवाल हुआ। बाबूपुरवा के बेगमपुरवा, बगाही मस्जिद के पास प्रदर्शन के दौरान अराजक तत्वों ने पुलिस पर हमला कर दिया। यहां आगजनी, पथराव और गोलीबारी में 12 लोगों को गोली लगी है। पथराव में दो सीओ, दो दारोगा समेत सात पुलिस कर्मी घायल हो गए। पुलिस पर पथराव करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कर बिल्हौर के पालिकाध्यक्ष शादाब खान समेत करीब 50 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया है। प्रदर्शनकारियों ने बिल्हौर, नौबस्ता, मुरे कंपनी पुल, चकेरी, जाजमऊ आदि क्षेत्रों में भी प्रदर्शन कर हंगामा किया।

फिलहाल हाईअलर्ट के बीच भारी पुलिस व अद्र्धसैनिक बल तैनात किया गया है। बाबूपुरवा में सेवन क्रिमिनल एक्ट के तहत 1500 अज्ञात समेत शहर के दस थाना क्षेत्रों में पंद्रह हजार उपद्रवी भीड़ के खिलाफ 12 मुकदमे दर्ज किए गए। वहीं बाबूपुरवा के उपद्रवकारियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है। दोपहर करीब एक बजे बाबूपुरवा थाना क्षेत्र के बगाही ईदगाह के बाहर युवकों ने प्रदर्शन शुरू किया। इस दौरान बाबूपुरवा की ओर से भी जुलूस आकर इसमें मिल गया। भीड़ नारेबाजी करते हुए नई बस्ती की ओर मुड़ी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को वापस करने की कोशिश की। इस पर प्रदर्शनकारियों ने चौकी प्रभारी बेगमपुरवा अनूप कुमार, सिपाही इंद्रजीत, जेब्रा और गरुड़ वाहिनी की चार बाइक में आग लगाकर पथराव शुरू कर दिया।

उपद्रवियों की ओर से सुरक्षा बलों पर पेट्रोल बम फेंके गए तो हालात खराब हो गए। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। इसके बाद फायङ्क्षरग शुरू हो गई। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और भीड़ को तितर-बितर किया। पथराव में सीओ बाबूपुरवा मनोज कुमार गुप्ता, बेगमपुरवा चौकी प्रभारी अनूप कुमार, बाबूपुरवा चौकी प्रभारी राजकुमार रावत समेत सात पुलिस कर्मी घायल हो गए। वहीं, घायल 25 वर्षीय आफताब आलम पुत्र इब्राहिम निवासी मुंशीपुरवा और 25 वर्षीय मो. सैफ पुत्र तकी निवासी छोटी बजरिया की मौत हो गई।

यतीमखाना से निकली हजारों की भीड़

यतीमखाना से हजारों की भीड़ ने निषेधाज्ञा की धारा 144 तोड़कर जुलूस निकाला। यतीमखाना चौराहे पर गलियों से निकली भीड़ ने बेकाबू होकर पुलिस पर पथराव कर दिया। फंसी पुलिस आंसू गैस के गोले दागकर किसी तरह वहां से निकली। पथराव में सीओ सैफुद्दीन बेग माथे पर पत्थर लगने से घायल हो गए। इसके बाद जुलूस की शक्ल में परेड पहुंची भीड़ ने पथराव करते हुए ऑटो, जना स्माल फाइनेंस बैंक और चप्पल शोरूम में तोडफ़ोड़ कर दी। पांच और वाहन भी तोड़ डाले।

इस दहशत में बाजार बंद हो गए। यहां डीएम एसएसपी ने रोकने की कोशिश की लेकिन भीड़ नहीं रुकी। इसके बाद भीड़ ने नरोना चौराहे पर पथराव कर दिया। यहां एडीजी प्रेम प्रकाश मौलाना के साथ पहुंंचे और भीड़ का समझा-बुझाकर लौटने के लिए कहा। लेकिन भीड़ नहीं मानी तो एडीजी और मौलाना भीड़ के आगे चले और जुलूस को एक्सप्रेस रोड से घंटाघर होते हुए वापस यतीमखाना ले जाकर खत्म करा दिया

स्कूल कॉलेज और इंटरनेट बंद

तनाव को देखते हुए हरकोर्ट बटलर टेक्निकल यूनिवर्सिटी में 21 व 22 दिसंबर को प्रस्तावित बीटेक की सेमेस्टर परीक्षाएं स्थगित कर दी गईं। कुलपति प्रो. एनबी सिंह ने माना, तनाव के कारण परीक्षा स्थगित की गई हैं, वहीं डीएम विजय विश्वास पंत ने ठंड को वजह बताया है। इसके अलावा स्कूल-कॉलेज भी शनिवार को बंद रहेंगे। बीएसएनएल के जीएम मनीष कुमार ने बताया कि अभी इंटरनेट और ब्राडबैंड बंद रहेंगे। इन्हें खोलने का फैसला स्थिति के अनुसार लिया जाएगा।

-उपद्रवियों पर सख्त कार्रवाई होगी। बेगमपुरवा में गोली लगने से 12 लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने फायङ्क्षरग नहीं की है। बाबूपुरवा में आत्मरक्षार्थ पैलट गन का प्रयोग किया गया। जिन्हें गोली लगी है, वह उपद्रवियों की ओर से चली गोली से घायल हुए हैं। -प्रेम प्रकाश, एडीजी कानपुर

यूं रहा घटनाक्रम

  • दोपहर 12 बजे: बेगमपुरवा, बाबूपुरवा में मस्जिदों में जुमा की नमाज
  • दोपहर 1.15 बजे: नमाज खत्म
  • दोपहर 1.20 बजे: बगाही ईदगाह के सामने प्रदर्शन शुरू 
  • दोपहर 1.25 बजे: बाबूपुरवा की ओर से सैकड़ों लोग बगाही पहुंचे और प्रदर्शन में शामिल हुए।
  • दोपहर 1.35 बजे: बगाही ईदगाह की नई बस्ती की ओर प्रदर्शनकारी पहुंचे।
  • दोपहर 1.40 बजे: पुलिस ने प्रदर्शनकारियोंको माइक से धारा-144 लागू होने की जानकारी दी और घर जाने को कहा। 
  • दोपहर 1.50 बजे: प्रदर्शनकारी उग्र हो गए। 
  • दोपहर 2.00 बजे: पथराव, चार बाइक में आग लगाई गई।
  • दोपहर 2.15 बजे: पुलिस ने लाठी पटक कर भीड़ को खदेडऩा शुरू किया।
  • दोपहर 2.25 बजे: अश्रु गैस के गोले दागे गए।
  • दोपहर 2.30 बजे: फायङ्क्षरग, पथराव बढ़ गए।
  • शाम 3.40 बजे: डीएम विजय विश्वास पंत और एसएसपी अनंत देव तिवारी मौके पर पहुंचे, इसके बाद स्थिति संभली।

(यतीमखाना व परेड)

  • दोपहर 2.00 बजे : यतीमखाना चौराहे के पास जुमे की नमाज हुई
  • दोपहर 2.15 बजे: इसी बीच नई सड़क की ओर से जुलूस सद्भावना चौक पहुंचा। 
  • दोपहर 2.15 बजे: हलीम कॉलेज चौराहे की ओर से भी जुलूस यतीमखाना चौराहे पर आया।
  • दोपहर 2.17 बजे: नमाजी उठे और नारेबाजी करते हुए सद्भावना चौक पहुंचे। 
  • दोपहर 2.20 बजे: पुलिस ने रोकने की कोशिश की लेकिन लोग परेड चौराहे की ओर बढऩे लगे। 
  • दोपहर 2.20 बजे: भीड़ में से किसी ने पत्थर फेंका जो सीओ के माथे पर लगा।
  • दोपहर 2.25 बजे: डीएम-एसएसपी व अधिकारियों को किनारे कर भीड़ परेड की ओर बढ़ी। 
  • दोपहर 2.27 बजे: लोगों ने परेड चौराहे पर वाहनों व दुकान में तोडफ़ोड़ शुरू की। 
  • दोपहर 2.30 बजे: मीडिया कर्मियों पर भी भीड़ ने चलाए पत्थर, भगदड़ मची। 
  • दोपहर 2.45 बजे: अधिकारियों ने भीड़ को शांत कराया, इसके बाद चौराहा जाम कर नारेबाजी की गई। 
  • दोपहर 3 बजे : भीड़ फूलबाग की ओर चली गई।
  • शाम 3:30 बजे : नरोना चौराहे पर पहुंची भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया।
  • शाम 4:40 बजे : भीड़ वापस यतीमखाना चौराहे पर पहुंची। 

 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप