कानपुर, जेएनएन। यमुना तटवर्ती गांव में दो साथियों ने मिलकर बदला लेने के लिए एक मासूम की निर्दयता से हत्या कर दी। धोखे से बुलाने के बाद पहले उसे दबोचकर मुंह में मिट्टी भरी और फिर उसका गला कसना शुरू कर दिया। काफी देर तड़पने के बाद मासूम ने दम तोड़ दिया तो दोनों युवक फरार हो गए। उसका शव खेतों में पड़ा मिला तो परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने आरोपितों को हिरासत में लिया तो घटना का पर्दाफाश हो गया।

सजेती थाना क्षेत्र के यमुना तटवर्ती गांव में बीते वर्ष युवती से छेड़छाड़ में इंद्रपाल निषाद के पुत्र सर्वेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। कुछ दिन पहले सर्वेश जेल से छूटकर आ गया था। सर्वेश मुकदमा दर्ज होने के बाद से युवती के परिजनों से रंजिश मानने लगा था और बदले की आग में जल रहा था। शनिवार की सुबह युवती के दस वर्षीय मासूम भाई का शव खेत में क्षतविक्षत पड़ा मिला। उसे देखकर परिजनों में कोहराम मच गया।

दोस्त के साथ मिलकर दिया घटना को अंजाम

पुलिस की पूछताछ और परिजनों के आरोप के अनुसार सर्वेश बदला लेने की फिराक में था। इसके लिए उसने अपने सबसे जिगरी दोस्त अनिल की भी मदद ली। आरोप है कि शुक्रवार शाम करीब छह बजे सर्वेश ने युवती के भाई को बुलवाने के लिए उसके एक साथी को पचास रुपये दिये। युवती का भाई आया तो सर्वेश और अनिल उसे दबोचकर खेत में ले गए। खेत में पहले उसके मुंह में मिट्टी भर दी। इसके बाद मुंह दबाकर उसका गला कस दिया।

मासूम के साथी से मिला सुराग

देर रात तक मासूम के घर न लौटने पर तलाश तेज हुई तो शव खेत में पड़ा मिला। पुलिस की छानबीन में पचास रुपये रुपये के लालच में मासूम के साथी ने सुराग दिया। पुलिस ने सर्वेश व अनिल को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो हत्या का पर्दाफाश हो गया। सीओ शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि मृतक की बहन से छेड़छाड़ में जेल जाने पर बदला लेने के लिए आरोपितों ने हत्या की स्वीकारोक्ति की है।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप