औरैया, जेएनएन। नई दिल्ली-हावड़ा रेल रूट के कंचौसी रेलवे स्टेशन के पश्चिमी केबिन से निकलते समय डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन से दो गाय टकरा गईं। इंजन के बम्फर हाईट में शव के टुकड़े फंसने की वजह से लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन रोक दी। इसके बाद कंट्रोल रूम को घटना की जानकारी दी गई। हादसे का पता लगने पर स्टेशन कर्मियों के हाथ पांव फूल गए। आनन-फानन रेलकर्मी घटनास्थल पर पहुंचे। वहीं एकाएक ट्रेन रुकने से कोच में बैठे यात्री सहम गए। करीब 15 मिनट तक ट्रेन रुकने के बाद गंतव्य को रवाना हो सकी। गनीमत रही कि कोई बड़ा हादसा नहीं हुआ। 

रविवार शाम करीब सवा पांच बजे नई दिल्ली-डिब्रूगढ़ राजधानी एक्सप्रेस कंचौसी रेलवे स्टेशन से पास पहुंची थी। डाउन लाइन से निकल रही ट्रेन पश्चिमी केबिन के पास थी, इसी दौरान दो गाय ट्रैक पर आ गई। जिसके इंजन से टकराने से लोको पायलट ने ट्रेन रोक दी। गार्ड को हादसे की जानकारी देते हुए कंट्रोल रूम को घटना बताई गई। ट्रेन रुकते ही कोच में बैठे यात्री भी नीचे उतर गए। घटनास्थल पर रेलवे लाइन के पास क्रासिंग से निकलने वाले लोगों की भीड़ लग गई। वहीं हादसा पता लगते ही आरपीएफ-जीआरपी सहित स्टेशन से स्टाफ पहुंचा। इंजन के बम्फर हाईट में फंसे शव के टुकड़े बाहर निकाले गए। इसके बाद स्थिति सामान्य देख लोको पायलट ने ट्रेन चलाई। घटना के बाबत स्टेशन अधीक्षक विशम्भर दयाल पांडेय ने बताया कि अचानक ट्रैक पर दो गाय आने से हादसा हुआ। सूझबूझ व सतर्कता दिखाते हुए लोको पायलट ने ट्रेन रोक दी। दोनों गाय के शव को ट्रैक से हटाते हुए रेल रूट बहाल किया गया। हालांकि, इस घटना में कोई दूसरी ट्रेन के संचालन पर फर्क नहीं पड़ा। 15 मिनट बाद कानपुर के लिए ट्रेन रवाना हो गई। लेकिन अचानक हुए हादसे से यात्रियों के अंदर खौफ बैठ गया।

Edited By: Abhishek Agnihotri