औरैया, जागरण संवाददाता। बिधूना कोतवाली क्षेत्र के एसजीएस इंटर कालेज के प्रबंधक और उनकी पत्नी की गला घोंटकर हत्या कर दी गई। उनके गले मफलर या रस्सी से कसे गए थे। घटनास्थल से 40 मीटर दूर स्कूल में एक युवक का शव मिला, वह सोमवार से लापता था। पुलिस घटना की जांच कर रही है। एक तीन हत्याओं को लेकर बिधूना कस्बे में सनसनी का माहौल है और लोगों में अजीब से दहशत छा गई है।

मोहल्ला नवीन बस्ती पूर्वी में एसजीएस इंटर कालेज के प्रबंधक 85 वर्षीय गंधर्व सिंह यादव कन्नौज के लुलुइया बलनपुर में एक इंटर कालेज के प्रधानाचार्य रहे थे। साल 2000 में सेवानिवृत्ति के बाद उन्होंने बिधूना में विद्यालय की स्थापना की थी। वह स्कूल परिसर में ही आवास बनाकर पत्नी 77 वर्षीय कमला देवी के साथ रहते थे। दोनों के शव कमरे में मिले। इसकी जानकारी दूध का डिब्बा लेने गए कालेज कर्मचारी को तब हुई, जब चैनल का गेट न खुलने पर उसने आवाज दी। वृद्ध दंपती का शव मिलने के बाद जांच में जुटी पुलिस को कालेज के नजदीक ही मिडिल स्कूल के पीछे खंडहर में 27 वर्षीय युवक का शव मिला। युवक की पहचान कस्बा मोहल्ला जवाहर नगर निवासी विमल कुमार पुत्र चंद्रभान के रूप में हुई। पिता तहसील में कार्यरत हैं।

रात में घर से निकला, पर लौटा नहीं : मिडिल स्कूल के पीछे खंडहर में जिस युवक विमल का शव मिला है उसके पिता चंद्रभान ने बताया कि बेटा 17 जनवरी को पुणे से पत्नी प्रीति संग लौटा था। वहां वह प्राइवेट नौकरी करता था। सोमवार रात करीब 10 बजे वह घर से निकला था लेकिन लौटा नहीं। इसको लेकर सवाल उठ रहे हैं। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक शशिभूषण मिश्रा ने बताया कि शव पोस्टमार्टम को भेजा है। हत्या की आंशका स्वजन ने जताई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट व जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा।

Edited By: Abhishek Agnihotri