कानपुर, जेएनएन। नो इंट्री से घूस लेकर ट्रक पास कराने का मामला सामने में आया है। 500 की जगह 200 रुपये देने पर ट्रैफिक सिपाही ने चालक की दाढ़ी व टोपी के बारे में ताना कसा तो हंगामा खड़ा हो गया। चालक की ओर से सिपाही पर रुपये मांगने के आरोप लगाने का वीडियो वायरल हुआ है।

वीडियो देखने के क्लिक करें - youtu.be/VySnqqrxMvM

एसपी सिद्धार्थ शंकर मीना ने देवी प्रतिमा विसर्जन को लेकर सोमवार सुबह पांच बजे से शहर के अंदर भारी वाहनों में रोक लगाने के निर्देश दिए थे। इससे सभी जगह सुबह से ही नो इंट्री लागू हो गई थी। लेकिन अतर्रा चुंगी के पास ट्रैफिक सिपाही फिर भी सुविधा शुल्क लेकर वाहन पास कराते रहे। इसी बीच रीवा से हमीरपुर जा रहे एक ट्रक को निकालने को लेकर चालक मो. सिराज व सिपाही के बीच कहासुनी हो गई। चालक ने आरोप लगाया कि उनके सामने आरोपित सिपाही ने पांच-पांच सौ रुपये लेकर करीब 25 ट्रक वहां से निकाले हैं। उससे भी सिपाही ने पांच सौ रुपये मांगे थे। लेकिन उसने जब सौ रुपये सिपाही को दिए तो उसने लेने से मना कर दिया। इतना ही नहीं उसकी दाढ़ी व टोपी पर सवाल उठाते हुए तंज कसा है। इन्हीं आरोपों के बीच में कुछ लोगों ने मौके का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया में वायरल कर दिया। जिसमें सिपाही पहले गमछे से अपनी नेम प्लेट ढके था। वहां मौजूद चालक व अन्य लोगों के दबाव बनाने पर उसने गमछा हटाकर नेम प्लेट दिखाई। 

हंगामे की जानकारी मिलने पर ट्रैफिक निरीक्षक मधुसूदन शुक्ला मौके पर पहुंचे। उनके समझाने के बाद मामला किसी तरह शांत हुआ। उन्होंने बताया कि पांच बजे से नो इंट्री थी। चालक अपना ट्रक निकालने को कह रहा था। मना करने पर उसने झूठे आरोप लगाए हैं। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021