जागरण संवाददाता, कानपुर : दलित और संविधान की सुरक्षा का नारा लेकर मुखर हुई कांग्रेस रविवार को कानपुर में गरजेगी। प्रदेश भर में सिलसिलेवार चल रहे कार्यक्रमों की कड़ी में यहां कानपुर और बरेली मंडल के कांग्रेसियों का 'दलित सम्मान, संविधान बचाओ' सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इसमें पार्टी के वरिष्ठ अनुसूचित जाति के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे।

सम्मेलन को लेकर शनिवार को कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष भगवती प्रसाद चौधरी ने तिलक हॉल में प्रेसवार्ता की। उन्होंने बताया कि दो मंडलों का संयुक्त सम्मेलन किया जा रहा है। नौ हो चुके हैं, अब दसवां और आखिरी सम्मेलन यहां डबल पुलिया स्थित गेस्ट हाउस में प्रात: 11 बजे से होने जा रहा है। मुख्य अतिथि राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष पीएल पूनिया होंगे। उनके अलावा कई वरिष्ठ नेताओं सहित कानपुर और बरेली मंडल के कांग्रेसी इसमें शामिल होंगे। पूर्व विधायक चौधरी का कहना था कि इन सम्मेलनों के जरिये हम दलितों को संविधान में प्रदत्त उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करना चाहते हैं। साथ ही आरोप लगाया कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दलित और संविधान के विरुद्ध काम कर रहे हैं। उनका कहना था कि हमारी लड़ाई सवर्णो से नहीं है, बल्कि दलितों के प्रति खराब नीयत रखने वालों से है।

प्रेस वार्ता में महानगर कांग्रेस अध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री, वरिष्ठ उपाध्यक्ष, शंकरदत्त मिश्र, प्रदेश उपाध्यक्ष मदन मोहन शुक्ला, कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. आरके जगत, महासचिव विकास सोनकर और भारत आजाद भी उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस