जागरण संवाददाता, कानपुर: सर्दी, बुखार, वायरल और संक्रामक रोगों का कहर थम नहीं रहा है। पिछले 24 घंटे में मासूम समेत तीन लोगों की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग की टीम पीड़ित परिवार और उसके आसपास जांच कर रही है। ग्रामीणों को सफाई और घरों के बाहर पानी न एकत्रित होने की सलाह दी जा रही है।

बिल्हौर के बलराम नगर निवासी अंकित अग्निहोत्री के 10 माह के पुत्र आरव को छह दिन से बुखार आ रहा था। प्राइवेट डाक्टर से इलाज कराया, जहां आराम न मिलने पर नर्सिंगहोम में भर्ती कराया। डेंगू की आशंका पर इलाज शुरू हुआ, लेकिन मंगलवार रात को बच्चे ने दम तोड़ दिया। सीएचसी अधीक्षक डा. अरविद भूषण ने बताया कि टीम भेजी गई थी। बच्चे की रिपोर्ट में डेंगू नहीं मिला है। हेपेटाइटिस बी की पुष्टि हुई है। आंकिन गांव निवासी 28 वर्षीय रोहित कमल की मंगलवार को निजी अस्पताल में मौत हो गई। स्वजन ने बताया कि रोहित को 15 दिन से बुखार आ रहा था। छह दिन पूर्व नर्सिंगहोम में भर्ती कराया था। उधर, कुरसौली गांव में 11 वर्षीय वैष्णवी गुप्ता ने भी दम तोड़ दिया। उसे कई दिनों से बुखार आ रहा था।

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कई दिनों से डेंगू, वायरल, बुखार का हमला तेज हो गया है। अब तक इसकी चपेट में आकर कई जानें जा चुकी हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीमें संक्रमण और बीमारी रोकने में जुटी हैं, लेकिन उनके प्रयास कारगर नहीं साबित हो रहे हैं। शहर से सटे कुरसौली गांव में डेंगू के कारण अब तक 12 मौतें हो चुकी हैं। कुरसौली के ग्रामीणों के मुताबिक गांव में दहशत ऐसी है कि लोग पलायन कर रहे हैं। गलियों में सन्नाटा है। गांव के 50 परिवार घर में ताला लगाकर कल्याणपुर, कानपुर, मंधना, बारासिरोही व अन्य स्थानों में किराये के मकान में रहने को मजबूर हैं। ग्रामीण जयदत्त अवस्थी, श्याम सिंह, महेश सिंह आदि ने बताया कि ऐसा मंजर कभी नहीं देखा। डा. धर्मवीर सिंह ने बताया कि कुरसौली में अब तक 27 लोगो की रिपोर्ट डेंगू पाजिटिव आई है, जबकि 20 से 30 लोग प्राइवेट अस्पतालों में उपचार करा रहे हैं।

-----

कई गांवों तक पहुंचा डेंगू

पनकी के बनपुरवा गांव में आशा बहू शिवकांति व अमरेश सिंह को बुखार आने पर निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। कल्याणपुर सीएचसी की टीम ने 13 लोगों के सैंपल लिए। बिल्हौर के बलराम नगर में डर का माहौल है। बिधनू ब्लाक के करौली गांव में अब तक 11 लोगों को डेंगू हो चुका है। वहीं घाटमपुर, पतारा और भीतरगांव सीएचसी क्षेत्रों में डेंगू के मरीज सामने आ रहे हैं। पतारा सीएचसी अधीक्षक डा. नीरज सचान ने बताया कि कनवापुर गांव के धर्मराज सिंह की 16 वर्षीय बेटी रीता को डेंगू हुआ है। भीतरगांव के बिरसिंहपुर गांव में 15 साल के राकेश की डेंगू रिपोर्ट पाजिटिव आई है। सरसौल के आधा दर्जन से अधिक गांवों में वायरल फैला हुआ है। तिलसहरी में ग्रामीणों की जांच की गई। सरसौल के करबिगवां, प्रेमपुर, फुफुवार, सरसौल, डोमनपुर में लोग बुखार की चपेट में हैं।

------------------

डेंगू के पांच केस आए, अब तक 108 में पुष्टि

शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बुधवार को डेंगू के पांच केस सामने आए हैं। अब तक 108 में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। सीएमओ डा. नैपाल सिंह ने बताया कि 225 डेंगू और मलेरिया के 1125 सैंपल मेडिकल कालेज भेजे गए थे। इसमें से डेंगू के पांच और मलेरिया के दो मामले सामने आए हैं। 5188 घरों की जांच में 67 लार्वा मिले, जिसको नष्ट कराया गया।

Edited By: Jagran