कानपुर, जेएनएन। पनकी की प्लास्टिक फैक्ट्री में गार्ड की हत्या कर 10 लाख रुपये की लूट करने वाले वहीं के कर्मचारी ही थे। दो कर्मचारियों ने योजनाबद्ध ढंग से वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने घटना का पर्दाफाश करते हुए आरोपित दो कर्मचारियों समेत तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है। वहीं माल बरामदगी के समय हुई मुठभेड़ में दो बदमाश गोली लगने से घायल हो गए। उन्हें सीएचसी कल्याणपुर में भर्ती कराया गया है।

तीन साथियों ने दिया था घटना को अंजाम

28 सितंबर की रात पनकी इंडस्ट्रियल एरिया अपट्रॉन एस्टेट स्थित सुमन प्लास्टिक फैक्ट्री में गार्ड अजय सचान की हत्या कर बदमाशों ने अलमारी में रखे 10 लाख रुपये, डीवीआर, टीवी, सेटटॉप बॉक्स लूट लिया था। पुलिस घटना में किसी जानकार का हाथ मान रही थी। पूछताछ में सामने आया कि फैक्ट्री के दो कर्मी प्रयागराज निवासी शुभम गुप्ता उर्फ शिवम व विवेक मौर्य गायब हैं। पुलिस ने उनके मोबाइल नंबर लेकर सर्विलांस पर लगाए तो सामने आया वारदात में उनका साथी प्रतापगढ़ निवासी रोहित गुप्ता भी शामिल है। उनकी लोकेशन नौरैयाखेड़ा और फिर कौशांबी व प्रतापगढ़ की मिली। मंगलवार रात लोकेशन टीपीनगर मिली तो पुलिस ने घेराबंदी कर उन्हें दबोच लिया। पूछताछ में बताया कि नौकरी के दौरान दोनों ने रेकी कर योजना बनाई थी और मौका पाकर वारदात को अंजाम दिया।

माल बरामदगी के समय हुई मुठभेड़

एसपी पश्चिम संजीव सुमन ने बताया कि तीनों बदमाशों प्रयागराज के थरवई थाना अंतर्गत पनीला महादेव निवासी 22 वर्षीय शुभम, सोरांव निवासी 20 वर्षीय विवेक मौर्य और प्रतापगढ़ के रतनपुर गांव निवासी 19 वर्षीय रोहित गुप्ता से लूटे गए 343770 रुपये डीवीआर, टीवी बरामद किए गए हैं। करीब तीन लाख रुपये बैंक खातों में डाल दिए थे, वह भी बरामद किए जाएंगे। एसपी के मुताबिक बुधवार सुबह जब तीनों आरोपितों को वारदात में सामान बरामद कराने बदुआपुर ले जाया गया तो उन्होंने बोरी में छिपाए दो तमंचों से पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में शुभम व विवेक पैर में गोली लगने से घायल हो गए।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप