कानपुर, जेएनएन। पिछले कई दिनों से लगातार हो रही बारिश का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा। गुरुवार देर रात से तेज बारिश शुरू हुई जो शुक्रवार को भी होती रही। सीएसए के मौसम विभाग में शुक्रवार को 81 मिमी बारिश दर्ज की गई। सीएसए के मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि एक दिन में इतनी बारिश 11 वर्षों पहले वर्ष 2008 में हुई थी। मौसम वैज्ञानिकों ने शनिवार को मध्यम से तेज गति की बारिश का पूर्वानुमान भी जताया।

सीएसए के मौसम वैज्ञानिक डॉ. नौशाद खान ने कहा कि शनिवार और रविवार को बारिश के चलते अधिकतम और न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज हो सकती है। कहा कि 11 सितंबर को 160 मिमी, छह सितंबर को 103 मिमी और तीन सितंबर को 82 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई थी। किसानों को सलाह देते हुए कहा कि मौसमी फसलों में सिंचाई न करें।

जनजीवन हुआ अस्त व्यस्त

रातभर पानी की बूंदें आफत बनकर बरसीं। बारिश के चलते जलभराव होने के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। स्कूल जाने वाले बच्चों व ऑफिस जाने वाले लोगों को तमाम दिक्कतों का सामना करना पड़ा। गोविंदपुरी पुल में जाम लगने से भी राहगीरों को मुश्किलें झेलनी पड़ीं। कई वाहन सवार तो गिरते-गिरते बचे।

पूरे शहर में हुआ जलभराव

कई क्षेत्रों में प्रमुख मार्गों पर भीषण जलभराव की स्थिति रही। बारिश के बाद गोविंद नगर चावला मार्केट, फजलगंज की ओर बड़ौदा चौराहा, दीप टाकीज रोड, साकेत नगर, उस्मानपुर कालोनी, जूही, सफेद कालोनी, लाल कालोनी, हरी कालोनी, यशोदा नगर, के-ब्लाक किदवई नगर, रिजर्व बैंक कालोनी, केशव नगर, योगेंद्र विहार, बर्रा-दो, बाबूपुरवा दस दुकान, एच-ब्लाक आदि स्थानों पर भीषण जलभराव हो गया। इन मार्गों से गुजरने वाले लोगों को पानी से मंझाकर निकलना पड़ा। बारिश और जलभराव के चलते कई स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया। वहीं किदवई नगर, बाबूपुरवा व बर्रा थाने में भी जलभराव होने के कारण आने जाने वाले फरियादियों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

ये गलियां बनीं टापू

गोविंद नगर, साकेत नगर, बर्रा, कल्याणपुर, विकास नगर, पुराना कानपुर, पांडु नगर, सर्वोदय नगर, लालबंगला, रामादेवी, पोखरपुर, जाजमऊ।

उत्तर और दक्षिण का संपर्क टूटा

गुरुवार की रात से हुई मूसलाधार बारिश के कारण कानपुर दक्षिण का बड़ा भाग जलभराव के कारण मुसीबत में घिर गया। जूही पुल के नीचे कई फीट पानी भर जाने से अफीम कोठी से बारादेवी की ओर जाने वाला मुख्य मार्ग बंद हो गया। लोगों ने बाकरगंज चौराहा, टाटमिल होते हुए अफीम कोठी निकलने का प्रयास किया तो झकरकटी पुल पर भीषण जाम लगा। उधर फजलगंज की ओर गोविंदपुरी पुल के पास ही घूटनो तक मुख्य मार्ग पर जलभराव होने के कारण लोगों को दिक्कत हुई और फजलगंज चौराहा से गोविंद नगर के चावला मार्केट तक सैकड़ों वाहन एक दूसरे में उलझे रहे। इस दौरान जाम से बचने के लिए लोगों ने दादानगर पुल से होते हुए सीटीआई निकलने का प्रयास किया तो ये मार्ग भी जाम हो गया।

टेंपो-आटो-ई रिक्शा ने मनमाना किराया वसूला

उत्तर दक्षिण के बीच जलभराव से आई दिक्कत का टेंपो। आटो और ई रिक्शा चालकों ने खूब फायदा उठाया और दो से तीन गुना किराया वसूला।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप