कानपुर, जेएनएन। रसोई महंगी होने से घर में इन दिनों गृहणियों का बजट गड़बड़ा रहा है। पिछले 15 दिन में दाल, सब्जी, फल सबकुछ महंगा हुआ है। गिनती की चीजें ही हैं जिन्होंने राहत दिलाई है। दालों की कीमतें इस समय लगातार बढ़ रही हैं। म्यांमार में सेना द्वारा तख्तापलट करने की वजह से अरहर की कीमत बढ़ी हुई है। वहां से देश में काफी अरहर आती है। अरहर की दालों की कीमत बढ़ी होने की वजह से अन्य दालों की कीमतें भी बढ़ी हुई हैं। इसके साथ ही फलों की कीमतें भी बढ़ी हुई है। पिछले 15 दिनों में फलों की कीमत पांच से 15 रुपये तक बढ़ चुकी हैं। कारोबारियों के मुताबिक अभी कीमतें और बढ़ेंगी।

दालों की कीमत (प्रतिकिलो)

दाल-    एक फरवरी-  17 फरवरी

अरहर-      83-            93

चना-         53           55-56

मलका मसूर- 58-         62

डालर चना 63 66

उड़द हरी 150 160

उड़द काली 81 83

उड़द धुली 90-91 93

मूंग छिलका 83 86

मूंग धुली 90 91

मटर 84 74

  • मटर को छोड़कर सभी दालों की कीमतें बढ़ी हुई हैं। अरहर की कीमतें बढऩे से बाकी दालों की कीमत भी बढऩे लगती है। मटर की नई फसल आ गई है, इसलिए उसकी कीमत कम हुई है। -सचिन त्रिवेदी, थोक दाल कारोबारी।

सेब, संतरा, किन्नू, अनार सब कुछ महंगा

फल मंडी में इस समय तेजी का दौर है। एक फरवरी से अब तक पांच से 15 रुपये तक कीमतें बढ़ चुकी हैं। फल कारोबारी नीतू सिंह के मुताबिक वसंत पंचमी के चलते शगुन, तिलक आदि काफी कार्यक्रम हुए जिसकी वजह से फलों के भाव बढ़े। अब कीमतें नीचे आने की उम्मीद कम है। अनार की कमी हो चुकी है।

फलों की यह है स्थिति

- 80 से 100 रुपये किलो कश्मीरी सामान्य सेब।

- 120 से 125 रुपये किलो कश्मीरी सीए सेब।

- 200 से 210 रुपये किलो आस्ट्रेलिया का आयायतित सेब।

- 140 रुपये किलो अच्छा अनार।

- 80-100 रुपये किलो दो नंबर का अनार।

- 50 रुपये किलो गोल अंगूर।

- 60 रुपये किलो लंबा वाला अंगूर।

- 25 रुपये किलो किन्नू।

- 60 रुपये किलो बड़ा संतरा।

- 40 से 50 रुपये किलो छोटा संतरा।

- 15 रुपये प्रति दाना किवी।

- 40 से 45 रुपये किलो मुसम्मी।

नई हरी सब्जी के बढ़े हुए हैं भाव

बाजार में नई हरी सब्जियों के भाव बढ़े हुए हैं। इसका कारण यह है कि इनकी आवक अभी शुरू ही हुई है। इसें परवल सबसे महंगा है।

सब्जी-           भाव

परवल-           135

करेला-             75

भिंडी-              75

लौकी-             40

प्याज-              50

(नोट : भाव फुटकर बाजार के प्रतिकिलो के हिसाब से हैं।)

रसोई गैस भी 50 रुपये महंगी

रसोई गैस भी 15 फरवरी को 50 रुपये महंगी हो गई। बनाना कुछ भी हो, रसोई गैस तो जलानी ही पड़ेगी। इससे रसोई में खर्च बढ़ गया है। वर्तमान समय में रसोई गैस 784 रुपये की हो गई है। यह गैस दिसंबर की शुरुआत में 609 रुपये की थी।

Edited By: Abhishek Agnihotri