उन्नाव, जेएनएन। हाई स्पीड ट्रेन तेजस शनिवार देर रात गंगाघाट रेलवे क्रासिंग पर हादसे का शिकार होने से बच गई। सिग्नल होने पर क्रासिंग के बंद फाटक के नीचे निकल रहा युवक गिर पड़ा और बाइक किनारे छोड़कर भाग निकला। ट्रैक किनारे बाइक देखकर लोको पायलट ने तेजस एक्सप्रेस की रफ्तार कम कर दी। इस तरह पायलट की सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया वरना यदि बाइक से तेज रफ्तार ट्रेन टकराती तो कोच में यात्रियों को खतरा हो सकता था।

शनिवार रात करीब 11 बजे कानपुर से लखनऊ जा रही तेजस एक्सप्रेस को गुजारने के लिए गंगाघाट क्रासिंग पर थ्रू सिग्नल था। गंगा पुल से आधी ट्रेन गुजर चुकी थी। इस बीच क्रासिंग के फाटक के नीचे से बाइक सवार निकल रहा था। इस पर लोको पायलट ने हॉर्न देकर अलर्ट किया। ट्रेन को आता देख हड़बड़ाहट में युवक गिर पड़ा और पटरी के किनारे ही बाइक छोड़ कर भाग निकला।

लोको पायलट ने ट्रेन की रफ्तार धीमी कर दी और परिचालन कंट्रोल को सूचना दी। गेट मैन ने तत्काल बाइक को पटरी किनारे से हटाकर ट्रैक क्लीयर किया। इसके बाद लोको पायलट में ट्रेन निकाली, इस दौरान करीब पांच मिनट ट्रेन रुकी। हालांकि आरपीएफ ने ट्रेन के रुकने से इंकार करते हुए कहा कि केबिनमैन ने बाइक को हटाकर लाइन क्लीयर कर दी थी।

बाइक सवार का पता लगा रही आरपीएफ

आरपीएफ ने बाइक कब्जे में लेकर उसके रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर युवक का पता लगाना शुरू किया है। घटना को संज्ञान में लेकर वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त अभिषेक कुमार ने रिपोर्ट मांगी है। आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक श्रीनिवास मिश्रा ने जांच शुरू कराते हुए गेटमैन का बयान दर्ज किया है।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप