बांदा, जागरण संवाददाता। संदिग्ध परिस्थितियों में किशोरी का शव स्वजन को घर के अंदर रस्सी के फंदे से लटका मिला। पिता का कहना है वह खेत में गए थे इसीदौरान किशोरी ने अकेला पाकर फांसी लगा ली। पिता के अनुसार बेटी का मानसिक संतुलन ठीक नहीं था। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

नरैनी कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बिल्हरका निवासी अच्छेलाल निषाद की 17 वर्षीय पुत्री पुनिया का शव रविवार शाम चचेरी बहन पाना निषाद को घर के अंदर छप्पर की धन्नी में लटका मिला। स्वजन खेत पर काम करने गए थे। उनके शोर मचाने पर अगल-बगल रहने वाले लोग मौके पर पहुंचे। घटना की सूचना स्वजन ने पुलिस को दी। जिसके बाद पुलिस ने शव कब्जे में लेकर घटनास्थल का मौका मुआयना किया। पिता ने बताया कि जब हमलोग घर पहुंचे तो बाहर के दरवाजे खुले थे। अंदर जिस कमरे में वह फंदे में मिली है वहां दरवाजे नहीं लगे हैं। वह अपनी पत्नी राजनश्री के साथ खेत तिल की फसल की रखवाली व अन्य कृषि कार्य से गए थे। बेटी पुनिया घर में अकेली थी। करीब दो वर्ष से उसका मानसिक संतुलन ठीक नहीं रहता था। शहर में उसका उपचार कराया गया था। इसी के चलते उसने यह कदम उठाया है। वह तीन बहन व पांच भाइयों में तीसरे नंबर की थी। कोतवाली निरीक्षक राकेश तिवारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला खुदकुशी करने का सामने आया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत का कारण पूरी तरह स्पष्ट हो जाएगा। 

Edited By: Abhishek Agnihotri