फतेहपुर, जेएनएन। कहते हैं प्यार अंधा होता है, ऐसा ही एक मामला औंग थाना क्षेत्र के गांव में सामने आया है। नाबालिग प्यार को अंजाम तक पहुंचाने के लिए किशोरी ने जान दांव पर लगा दी। किशोर प्रेमी ने जब शादी करने से मना कर दिया तो आहत किशोरी ने खुद को आग लगा ली। उसे गंभीर हालत में कानपुर के एलएलआर अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। घटना की जानकारी के बाद एसपी और सीओ ने भी गांव पहुंचकर पड़ताल की है।

आपत्तिजनक हालत में पकड़े गए थे

औंग थाना क्षेत्र के एक गांव में सजातीय किशोर व किशोरी पड़ोसी थे और उनके बीच दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। कक्षा 8 के बाद किशोरी ने पिछले साल पढाई छोड़ दी थी और किशोर कक्षा 9 में पढ़ रहा है। ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि बीती 9 जनवरी को किशोर और किशोरी को परिवार वालों ने आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था। उनके बीच प्रेम प्रसंग का मामला प्रकाश में आया तो गांव के लोगों ने पंचायत कराई।

पंचायत में हुई थी शादी कराने की बात

पंचायत में दोनों की शादी कराने की बात रखी गई तो परिजन भी राजी हो गए। परिवार वालों ने 13 जनवरी को मंदिर में शादी करने का निर्णय किया। पंचायत के बाद किशोर गांव से फरार हो गया। इसके बाद किशोरी ने मोबाइल फोन पर प्रेमी किशोर से बात की और लौटकर आने को कहा। उसने किशोर से कहा था कि यदि शादी नहीं करेगा तो वह जहर खाकर या आग लगाकर अपनी जान दे देगी। उसने किशोर को समाज में बदनामी की भी दुहाई दी थी। इसके बावजूद किशोर ने शादी करने से मना कर दिया।

भाई की झोपड़ी में किशोरी ने खुद को लगाई आग

प्रेमी के इंकार से आहत किशोरी ने बुधवार सुबह गांव के बाहर रहने वाले भाई की झोपड़ी में जाकर खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली। आग की तेज लपटें देख किशोरी की भाभी ने शोर मचाया तो गांव के लोग दौड़कर आए। लोगों ने आग बुझाकर किसी तरह किशोरी को बाहर निकाला गया। गंभीर हालत में उसे कानपुर एलएलआर अस्पताल भेजा गया है। घटना की जानकारी पर एसपी प्रशांत कुमार और सीओ ने गांव पहुंचकर पड़ताल की। एसओ राकेश मौर्य ने बताया आरोपित किशोर को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस