कानपुर, जागरण संवाददाता। चकेरी थानाक्षेत्र के श्यामनगर स्थित बंद मकान में चोरी की वारदात को अंजाम देने के लिए बदमाशों ने तैयारी तो पूरी की थी, लेकिन तकनीक ने चुगली कर दी। अमेरिका में बैठे मकान मालिक ने मोबाइल पर सीसीटीवी की लाइव फुटेज देखकर घर में घुसपैठ करने वाले चोरों को चेताया फिर पुलिस तक सूचना पहुंचा दी। इसके बाद हुई मुठभेड़ में एक बदमाश पुलिस की गोली से घायल हो गया। पूछताछ में उसने अपने अन्य दो साथियों के बारे में भी सारे राज उगल दिए हैं।  

श्यामनगर निवासी इंजीनियर विजय अवस्थी और आशुतोष अवस्थी परिवार के साथ अमेरिका के न्यूजर्सी में रहते हैं। यहां घर की देखभाल करने वाला केयरटेकर घर चला गया था। इस बीच सोमवार रात करीब साढ़े 11 बजे चोरी के इरादे से तीन बदमाश बंद मकान में छत के रास्ते दाखिल हुए। अमेरिका में बैठे अवस्थी बंधुओं ने घर में लगे सीसीटीवी कैमरों से घर में बदमाशों की घुसपैठ देख ली। 

सीसीटीवी कैमरे उनके मोबाइल से जुड़े हुए थे और लगातार घर पर नजर रख रहे थे। सेंसर वाले अत्याधुनिक कैमरे के साथ स्पीकर और माइक भी लगे हैं। जैसे ही चोर घर में दाखिल हुए कैमरों ने अमेरिका में बैठे मकान मालिकों को अलर्ट मैसेज भेजा। इसके बाद विजय व आशुतोष ने चोरों से कहा कि वह देख लिए गए हैं। अच्छा होगा कि लौट जाएं। इस पर चोरों ने बाहर लगा सीसीटीवी कैमरा तोड़ दिया और कमरों में दाखिल होने की कोशिश करने लगे। विजय ने पड़ोसी कर्मेंद्र व आशुतोष को फोन करके घर में चोर घुसे होने की जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने बदमाशों को घेरा तो उन्होंने पुलिस पर फायर कर दिया। जवाबी फायरिंग में एक बदमाश को पैर में गोली लगी और वह घायल हो गया। दो बदमाश भाग गए। चकेरी थानाप्रभारी मधुर मिश्रा के मुताबिक, पकड़े गए बदमाश की शिनाख्त नरवल थानाक्षेत्र पाली गांव निवासी शिवनाथ उर्फ सोनू के रूप में हुई है। उसने बताया है कि उसने अपने साथियों नौबस्ता निवासी मुन्ना व कल्लू की मदद से चोरी की वारदात को अंजाम दिया। सोनू ने बताया कि तीनों ने पहले रेकी की। शाम को ही उन्होंने तय कर लिया था कि ताला बंद इसी घर को वह लोग निशाना बनाएंगे।

नहीं ले जा सके कोई सामान

विजय व आशुतोष की दो बहनें प्रीति व पूनम हैं। प्रीति की शादी बर्रा आठ व पूनम की शादी यशोदा नगर में हुई है। रात सूचना मिलने पर दोनों बहनें श्यामनगर पहुंचीं। प्रीति के पति अमित द्विवेदी ने बताया कि चोर गेट से मुख्यद्वार के बीच खाली पड़े पोर्च  एरिया तक ही सीमित रहे। पुलिस के आने की वजह से उन्हें भागना पड़ा। पूरा सामान सुरक्षित मिला। 

Edited By: Abhishek Verma