जागरण संवाददाता, कानपुर: ट्रेनों में बढ़ रही लूटपाट की घटनाओं को रोकने के लिए रेलवे सुरक्षा बल के आईजी रवींद्र वर्मा ने समन्वय बनाकर काम करने और अपराध रोकने के लिए निर्देश दिए हैं। जूही थाने के निरीक्षण के दौरान जर्जर भवन देखकर उन्होंने मरम्मत कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही थाना परिसर में महिला टायलेट न होने पर निर्माण इकाई को नोटिस भेजने की बात कही है। इस अवसर पर आइजी आरपीएफ रवींद्र वर्मा ने डीएससी मनोज सिंह, सहायक सुरक्षा आयुक्त एके राय और थाना प्रभारी सुरुचि शर्मा के साथ परिसर में पौधरोपण किया। आरपीएफ के जीएमसी थाने की कार्यशैली पर संतुष्ट आइजी ने सामूहिक पुरस्कार देने की बात कही। निरीक्षण के दौरान उन्होंने जीआरपी और रेलवे रनिग स्टाफ के साथ हर माह बैठक कर समन्वय बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जीआरपी और आरपीएफ दोनों का उद्देश्य अपराध पर अंकुश लगाना और यात्री सुरक्षा है। इसलिए समन्वय से ही अपराध पर अंकुश लगाया जा सकता है।

-----

ट्रेन और ट्रैक की सुरक्षा में गुजरा दिन

-सरसौल, भीमसेन, फर्रुखाबाद रूट पर हुई पेट्रोलिग

जागरण संवाददाता, कानपुर: किसानों के बंद और रेल रोकने के आह्वान के चलते सोमवार को आरपीएफ का पूरा दिन पेट्रोलिग में बीता। कानपुर सेक्शन में ट्रेनें प्रभावित न हों इसके लिए रेलवे सुरक्षा बल और राजकीय रेलवे पुलिस ने संयुक्त रूप से सरसौल, भीमसेन और फर्रुखाबाद पर पेट्रोलिग की। जीआरपी प्रभारी पीके ओझा ने बताया कि किसानों के रेल रोको आंदोलन के चलते सरसौल रूट तक पेट्रोलिग की गई। झांसी रूट पर आरपीएफ प्रभारी शिप्रा, गोविदपुरी रूट पर सुरुचि शर्मा और लखनऊ फाटक के ट्रैक पर जीआरपी प्रभारी समर सिंह अपनी-अपनी टीम के साथ पेट्रोलिग करते रहे। उपमुख्य वाणिज्य प्रबंधक संतोष त्रिपाठी ने बताया कि सेक्शन में सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी ताकि कहीं कोई रूट प्रभावित न हो।

Edited By: Jagran