जासं, कानपुर : चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विवि (सीएसए) में कार चलाना सीख रहे स्टेप एचबीटीआइ के एमबीए द्वितीय वर्ष के छात्रों की सीएसए के पीएचडी छात्रों से झड़प हो गई। इसके बाद सीएसए के हास्टलों से आए 42 से ज्यादा छात्रों ने लाठी-डंडे से हमला कर दिया। जान बचाकर एमबीए छात्र पैदल जंगल के रास्ते भागे। तब हमलावरों ने तोड़फोड़ कर उनकी कार पलटा दी और बाइक में आग लगा दी। पुलिस के पहुंचने से पहले हमलावर फरार हो गए। मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है।

स्टेप एचबीटीआइ के छात्र अनिमेश शुक्ला ने बताया कि शुक्रवार दोपहर साथी शुभांशु सिंह, सत्यम सिंह कुशवाहा, हर्ष पांडेय के साथ दोस्त की कार लेकर सीएसए गए थे। शुभांशु अपनी बाइक ले गया था। बाइक खड़ी करके चारों कार चलाना सीख रहे थे। करीब दो बजे मृदा संरक्षण फार्म की ओर सीएसए के दो छात्र रास्ते में बाइक खड़ी करके उस पर बैठे थे। उनसे रास्ते से बाइक हटाने के लिए कहा तो गालीगलौज शुरू कर दी। विरोध पर मारपीट करने लगे। उनमें से एक छात्र ने फोन किया तो हास्टल से करीब 42 छात्र डंडे-हाकी, सरिया लेकर आ गए और हमला कर दिया। बचने के लिए कार व बाइक छोड़ अनिमेश साथियों संग जंगल के रास्ते भागे। इस बीच सीएसए के छात्रों ने बाइक व कार में तोड़फोड़ शुरू कर दी। पीछे मुड़कर देखा तो हमलावरों ने कार पलटा दी थी और बाइक में आग लगा दी। अनिमेश ने बताया कि वारदात से पहले एक आरोपित ने खुद को पीएचडी का छात्र रंजीत बताया था। उसने धमकी भी दी थी कि दोबारा सीएसए कैंपस में दिखे तो वापस नहीं जाओगे। सूचना पर एसीपी स्वरूप नगर बृजनारायन सिंह, थाना प्रभारी आशीष द्विवेदी फोर्स के साथ पहुंचे, लेकिन हमलावर फरार हो चुके थे। एसीपी ने बताया कि शुभांशु की तहरीर पर 42 छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। आरोपितों की तलाश की जा रही है।

------------

15 दिन में दूसरी वारदात से दहशत में आए छात्र

21 नवंबर को सीएसए में सीनियर्स ने जूनियर छात्रों के साथ रैगिग और उनके हास्टल में घुसकर हमला किया गया था। इस वारदात को अभी एक पखवारा भी नहीं बीता कि विवि के सीनियर छात्रों की गुंडागर्दी का फिर मामला सामने आया है। इससे विवि में दहशत का माहौल है। डीन स्टूडेंट वेलफेयर डा. आरपी सिंह ने बताया कि जिन छात्रों ने वारदात की है, उन्हें चिह्नित करने की कोशिश की जा रही है।

------------

हास्टल से गायब हो गए हमलावर, शिनाख्त में नहीं आए

पुलिस ने हमलावरों की पहचान करने के लिए सीनियर ब्वायज हास्टल के तमाम छात्रों को बुलाया तो कई छात्र पहले ही निकल गए थे। जो छात्र बचे थे, केवल वही बाहर निकले। उन्हें दो पंक्ति में खड़ा करके एसीपी ने पूछताछ की। वीडियोग्राफी भी कराई गई, लेकिन हमला करने वालों के नाम किसी ने नहीं बताए। एसीपी ने कहा, वीडियो फुटेज के आधार पर कुछ छात्रों को चिह्नित किया गया है। उनसे पूछताछ की जाएगी।

..............

वीडियो के आधार पर पुलिस ने जारी की तीन हमलावरों की फोटो

जासं, कानपुर : स्टेप एचबीटीआइ के छात्रों से मारपीट, कार में तोड़फोड़ व बाइक फूंकने वाले आरोपितों में से तीन की फोटो पुलिस ने घटनास्थल पर बनाई गई वीडियो रिकार्डिंग के आधार पर जारी की है। एसीपी ने बताया कि पीड़ित छात्र ने ही अपने मोबाइल में वीडियो रिकार्ड की थी। इसमें तीन युवकों के हमलावर होने की जानकारी दी है। उनकी तलाश की जा रही है। सामने आने पर पूछताछ की जाएगी।

Edited By: Jagran