कानपुर, जेएनएन। कानपुर से नई दिल्ली जा रही श्रमशक्ति एक्सप्रेस के वातानुकूलित प्रथम श्रेणी कोच में गोविंद नगर निवासी सुशील पुरी का नकदी भरा पर्स छूट गया। नई दिल्ली में जागृति इन्क्लेव में रहने वाले दामाद अनिमेश अरोड़ा ने नई दिल्ली के स्टेशन प्रबंधक संजय गोयल से संपर्क कर मामले की जानकारी। सुशील पुरी प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना के करीबी रिश्तेदार भी हैं।

अनिमेश ने बताया कि 13 मार्च को उन्होंने पर्स छूटने की सूचना दी थी। इस पर स्टेशन प्रबंधक ने नई दिल्ली के कैरिज एंड वैगन के सीनियर सेक्शन इंजीनियर अनिल चोपड़ा को बताया। तब तक ट्रेन वापस कानपुर के लिए रवाना हो चुकी थी। सीनियर सेक्शन इंजीनियर ने कानपुर के सीडीओ संजय अवस्थी को इसकी जानकारी दी।

संजय अवस्थी ने एच-वन कोच के अटेंडेंट सुनील कुमार यादव से तलाश कराई तो कोच में पर्स मिल गया। उसे ट्रेन से वापस नई दिल्ली भेजा गया। वहां स्टेशन अधीक्षक अनिल पासवान ने पर्स लेकर स्टेशन प्रबंधक प्रोटोकाल राकेश शर्मा के सुपुर्द किया। राकेश शर्मा ने सुशील पुरी को बुलाया और पर्स उन्हें सौंप दिया।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस