कानपुर, जागरण संवाददाता। शहर में मेट्रो संचालन के लिए मात्र एक माह बचा है। समय से ट्रेन चलाने के लिए मेट्रो को कम से कम छह ट्रेनें चाहिए। हालांकि मेट्रो के पास अभी सिर्फ दो ट्रेन हैं। तीसरी ट्रेन के कोच एक दो दिन में आने की उम्मीद है। अब हर 10 दिन में एक मेट्रो ट्रेन के कोच कानपुर आने लगेंगे।

आइआइटी से मोतीझील के बीच के पहले कारिडोर में ट्रेन के संचालन के मेट्रो प्रबंधन को आठ ट्रेनें चाहिए थीं। मेट्रो ने जनवरी 2022 में ट्रेन चलाने के लिए लक्ष्य बनाया था। इसके हिसाब से ही गुजरात में मेट्रो के कोच बना रही कंपनी को आदेश दिए गए थे। अब मेट्रो चलाने का लक्ष्य करीब एक माह पहले का हो गया। दिसंबर के अंत तक मेट्रो चलानी है। इसलिए मेट्रो ने भी आठ की जगह छह ट्रेनों से शुरुआत करने की तैयारी की है। मेट्रो कोच बना रही कंपनी को दिसंबर तक ही छह ट्रेनों को देने के लिए कहा है।

दो ट्रेनें उसने जनवरी में मांगी हैं। मेट्रो प्रबंधन के सामने समस्या यह है कि उसके डिपो में अभी सिर्फ दो ट्रेनें हैं। उसकी तीसरी ट्रेन कोच एक-दो दिन में शहर आ जाएंगे, लेकिन ट्रेन के कोच आने के बाद भी उनमें कई तरह की फिङ्क्षटग करनी होती है। इसलिए मेट्रो ने कंपनी से हर 10 दिन के अंदर एक ट्रेन के कोच भेजने को कहा है। अफसरों के मुताबिक इस तरह अगले 30 दिन में तीन ट्रेनें आ सकेंगी।

Edited By: Abhishek Agnihotri