मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

उन्नाव, जेएनएन। नौ माह कोख में रखकर दर्द सहते हुए बेटे को जन्म देने वाली उस मां ने कभी सपने में भी नहीं सोचा होगा, कि वही उसकी जिंदगी छीन लेगा। काल रूपी बेटे को पालन पोषण कर बड़ा किया और उसी ने अपनी बूढ़ी मां को इस कदर बेरहमी से पीटा जबतक उनकी मौत नहीं हो गई। मां की हत्या के बाद वह फरार हो गया, लोगों को जानकारी हुई तो सनसनी फैल गई। पुलिस भी पहुंच गई और जांच शुरू की, वहीं लोग भी मां की हत्या करने वाले कपूत को कोसते रहे।

अचलगंज थाना क्षेत्र के अर्चित खेड़ा के मजरा पडऱी कला में 70 वर्षीय शारदा पत्नी भगीरथ अपने बेटे के साथ रहती थीं। पुत्र राजकिशोर उर्फ नन्हके को पाल-पोश कर बड़ा किया और बुढ़ापे की लाठी बनने की आस लगाए थीं। राजकिशोर गलत संगत में आकर शराब का लती हो गया, जिसे लेकर रोजाना उसकी मां से बहस होती थी। शराब के नशे में नन्हके घर आता तो मां उसे टोकती थी और शराब पीने से मना करती थी। रविवार रात भी वह शराब पीकर घर आया तो शारदा ने विरोध जताया था।

शराब पीने से मना किया तो नन्हके गुस्से में आ गया। बहस शुरू होने पर नन्हके ने बूढ़ी मां को बेरहमी से पीटना शुरू कर दिया। तेज शोर सुनकर नन्हके के भाई श्रीकृष्ण और राजकुमार भी आ गए। भाइयों ने नन्हके को रोकने का प्रयास किया लेकिन वो नहीं माना और पीट-पीटकर मां को मार डाला। मां के बेदम होते ही नन्हके भाग निकला। श्रीकृष्ण और राजकुमार ने मां को डॉक्टर को दिखाया तो उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनकी तहरीर पर पुलिस ने घटना की छानबीन आर नन्हके की तलाश शुरू की है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप