बांदा, जेएनएन। कभी सोचा भी न था कि जिगर का टुकड़ा ही जान का दुश्मन बन जाएगा। बचपन में उसे कंधे पर बिठाकर घुमाया और जब वह बड़ा हुआ तो उसी पिता का कत्ल कर दिया। जमीन के बंटवारे को लेकर हुए विवाद में पुत्र ने पिता को लाठी से पीटकर मार डाला और भाई को भी लहूलुहान कर दिया। घटना से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। पुलिस अब आरोपित को पकडऩे के लिए दबिश दे रही है।

बांदा कोतवाली क्षेत्र के ग्राम बक्छा निवासी 70 वर्षीय धनपत के तीन पुत्र हैं। मंझले पुत्र रामराज की दस वर्ष पहले मौत हो गई थी। परिवारीजन के कहने पर छोटे भाई राममूरत ने रामराज की पत्नी सुमन से विवाह कर लिया था। पिता के नाम पैतृक जमीन करीब 50 बीघा के अलावा रामराज की खरीदी पौने तीन बीघा जमीन अलग से है। पिता धनपत उस जमीन को रामराज की 15 वर्षीय बेटी के नाम करने को कह रहे थे जबकि उनके बड़े पुत्र देवराज को यह बात नागवार गुजर रही थी। उसका कहना था कि भाई की जमीन के तीन हिस्से बांटे जाएं।

इसी बात को लेकर देवराज का उसके भाई राममूरत से गांव के तिराहे पर लगे हैंडपंप के पास गुरुवार सुबह करीब सवा 10 बजे विवाद हुआ। मारपीट होने की सूचना पर पिता बीच-बचाव करने पहुंच गए। इस पर देवराज ने पिता के हाथ से लाठी छीनकर उन पर हमला कर दिया। हमले में वृद्ध पिता व भाई दोनों घायल हो गए। गंभीर रूप से घायल पिता को परिवारीजन ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया, वहां उनकी मौत हो गई। कोतवाली प्रभारी अखिलेश मिश्रा का कहना है कि हत्यारोपित को जल्द गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप