महोबा, जेएनएन। उप्र में बेरोजगारी की वजह से लोग भुखमरी की कगार पर हैं। कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है और सरकार के वायदे और दावे खोखले साबित हो रहे हैं। यह बात प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने मीडिया से रूबरू होते हुए कही। उन्होंने कहा कि मथुरा से यह यात्रा शुरू की है और महोबा की धरती को नमन करता हूं। इसके बाद शहर में बग्घी पर सवार हो कार्यकर्ताओं के साथ यात्रा निकाली। 

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में कबरई का क्रशर उद्योग बर्बाद हो गया है। पहले 400 के करीब क्रशर थे और अब 70-80 के करीब ही बचे हैं। उनकी सरकार आने पर महोबा के क्रशर उद्योग को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्होंने चुनाव में सपा से गठबंधन के संकेत दिए। लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर भी सरकार को निशाने पर लिया। इसके बाद शहर के एक गेस्ट हाउस से सामाजिक परिवर्तन यात्रा की शुरुआत की जो पुलिस लाइन रोड, राठ चुंगी, ऊदल चौक होते हुए आल्हा चौक पहुंची। यहां प्रसपा अध्यक्ष का तुलादान किया गया। इसके बाद यात्रा परमानंद होते हुए बांदा के लिए रवाना हुई। जगह-जगह यात्रा का जोरदार ढंग से स्वागत किया गया और पुष्प वर्षा हुई। इस दौरान प्रदेश महासचिव चौधरी छत्रपाल सिंह यादव, राष्ट्रीय महासचिव आदित्य यादव, प्रदेश प्रमुख महासचिव अभिषेक सिंह आशु, प्रदेश अध्यक्ष सुंदर लाल लोधी, राष्ट्रीय महासचिव रामनरेश मिनी आदि शामिल रहे।

समाजवादी पार्टी पहली प्राथमिकता: मंगलवार को शिवपाल ने लाेगों को संबोधित करते हुए कहा था कि उनकी पहली प्राथमिकता समाजवादी पार्टी है। उन्होंने कहा था कि गैर भाजपा दलों को एक हो जाना चाहिए ताकि भाजपा को हराया जा सके। उन्हाेंने समाजवादी पार्टी से अपने प्रेम को भी लोगों के सामने रखा था। इसके बाद शिवपाल देर शाम एक होटल में रात्रि विश्राम के लिए रुक गए थे। बुधवार को शिवपाल एक बार फिर से रथ पर सवार हुए और बांदा निकल गए। 

Edited By: Abhishek Agnihotri