कानपुर, [अंकुश शुक्ल]। टारगेट जोन की स्पर्धाओं में अचूक निशाना लगाकर देशभर में पहचान बना चुके शैलेश कुमार अब विश्व फलक पर शहर का नाम रोशन करेंगे। 27 सितंबर से एक नवंबर तक चलने वाले डाट्र्स वर्चुअप विश्वकप में वह देशभर की ओर से भाग लेने वाले टॉप-4 खिलाडिय़ों में शामिल हैं। खास बात ये है कि शैलेष यूपी से अकेले ही टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे। उनके साथ छत्तीसगढ़ की संयोगिता बनर्जी, महाराष्ट्र की विजया टेक्सिंगानी व पश्चिम बंगाल के एलविस जैक्सन होंगे।

प्रतियोगित में प्रतिभाग करेंगे 500 खिलाड़ी

सनिगवां निवासी आर्मी से रिटायर्ड गणेश प्रसाद के बड़े बेटे शैलेष कैनरा बैंक में कार्यरत हैं। वे टारगेट जोन मसलन शूटिंग एयर पिस्टल, आर्चरी, क्रॉसबो, तीरंदाजी व डाट्स के राष्ट्रीय खिलाडिय़ों में शुमार हैं। शैलेष ने बताया कि कोरोना संक्रमण के कारण इस बार डाट्र्स विश्वकप वर्चुअल होगा। इसमें हर देश से टॉप दो महिला व दो पुरुष खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। हर मैच दो देशों के बीच होगा। खिलाड़ी को तीन कैमरे लगाने होंगे, जिससे स्कोर बोर्ड, लाइन मार्क और पूरी बॉडी नजर आए। इसी के आधार पर निर्णायक जीत-हार का फैसला सुनाएंगे। प्रतियोगिता में भारत के अलावा इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, आयरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड सहित विश्व के विभिन्न देशों से तकरीबन 500 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे।

डाट्स रैंकिंग में टॉप पर शैलेष

यूपी की डाट्र्स रैंकिंग में शैलेष टॉप पर हैं। वे वर्ष 2018 में यूपी स्टेट में स्वर्ण और 2019 में आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिता में बेस्ट प्लेयर रह चुके हैं। नेशनल रैकिंग में भी वह टॉप-10 में काबिज हैं। वह अन्य खिलाडिय़ों को भी डाट्र्स का प्रशिक्षण देते हैं। इनमें कई खिलाड़ी ऐसे हैं जो राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर पर अपनी धाक जमा चुके हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस