कानपुर, जेएनएन। School Repoening in Kanpur जैसे-जैसे कोरोना संक्रमण की स्थिति ठीक हो रही है, वैसे-वैसे सरकार स्कूल-कालेजों को पुन: खोलने का फैसला कर रही है। सोमवार से जहां सभी निजी व सरकारी माध्यमिक विद्यालयों में पढ़ाई शुरू हो गई, वहीं अब अगले हफ्ते से छठवीं से आठवीं तक के बच्चे स्कूल आएंगे। इस संबंध में सीएम ने अधीनस्थ अफसरों को निर्देश दे दिए हैं। कुछ दिनों पहले तक इन बच्चों को एक सितंबर से बुलाने की तैयारी थी, हालांकि सरकार का प्लान बदला और अब इन बच्चों को 23 अगस्त, यानी रक्षाबंधन के ठीक अगले दिन से स्कूल बुलाया जाएगा। इसके अलावा कक्षा एक से लेकर पांचवीं तक के बच्चों को एक सितंबर से बुलाने की तैयारी है। हालांकि, अभी विभागीय अफसर इसे लेकर चुप्पी साधे हुए हैं।

सरकारी के बजाय, निजी स्कूलों में उपस्थिति बेहतर होने के आसार: सोमवार को जब माध्यमिक विद्यालय खोले गए तो सरकारी के बजाय निजी स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति बेहतर रही। सरकारी में तो न के बराबर और निजी स्कूलों में करीब 50 फीसद छात्र उपस्थित रहे। इस स्थिति से ही निजी स्कूल संचालक यह अंदाजा लगा रहे हैं, कि छठवीं से आठवीं तक के बच्चों में भी सरकारी के स्थान पर निजी स्कूल के बच्चे स्कूल आना पसंद करेंगे। कानपुर प्राइवेट स्कूल्स एसोसिएशन के महामंत्री बलविंदर सिंह ने बताया कि बच्चों के लिए कोरोना को देखते हुए सारे प्रबंध किए गए हैं। जो बच्चे आएंगे, उन्हें मास्क पहनकर आना होगा। वहीं 50 फीसद क्षमता होने के चलते शारीरिक दूरी का पालन भी आसानी से हो सकेगा।

हर शिक्षक को लगवाना होगा कोरोना का टीका: बीएसए डा.पवन तिवारी ने बताया कि स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने के लिए पहले तो हर शिक्षक को कोरोना का टीका लगवाना होगा। इसके लिए सभी शिक्षकों को निर्देश दे दिए गए हैं।

Edited By: Shaswat Gupta