कानपुर, जेएनएन। एक तरफ शहर को स्मार्ट सिटी बनाने की तैयारी चल रही है वहीं दूसरी तरफ हालत यह है कि तीन जगह डाट नाला धंसने से रास्ता प्रभावित हो गया है। कछुअा चाल से काम हो रहा है इसके चलते काम पूरा नहीं होने के कारण जाम लग रहा है और रोज वाहन फंसते हैं। इसके चलते लोगों में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। क्षेत्रीय लोगों का कहना है कि कैद होकर रह गए है। बरसात में स्थिति अौर भी भयावह हो जाती है।

80 फीट रोड में दो माह से डाट नाला धंसा हुअा है। इसकी मरम्मत का कार्य चल रहा है। रास्ता चारों तरफ से बांस बल्ली लगाकर बंद कर दिया गया है। काम के नाम पर केवल खानापूरी हो रही है।इसके चलते हजारों लोग फंसे हुए है। कंपनी बाग चौराहा के पास एक माह से डाट नाला धंसा हुअा है। नाला ठीक करने के नाम पर केवल जलकल ने पाइप डालकर गंदे पानी की निकासी सीवर लाइन से कर दी है ताकि नाला का निर्माण जल्द हो सके।

इसी कड़ी में रामबाग में पिछले एक माह से डाट नाला धंसा हुअा है। यहां पर अभी तक कार्य कराने के नाम पर केवल खानापूरी हो रही है।  क्षेत्रीय पार्षद रीता पासवान कई बार शिकायत अफसरों से कर चुकी है। नाला ठीक करने के दौरान नगर निगम ने जल निगम की लाइन तोड़ दी थी। इसके चलते क्षेत्र की जलापूर्ति रूक गई थी। क्षेत्रीय पार्षद ने बताया कि अफसर सुनते तक नहीं है जनता रोज उनको घेर रही है। बाजार लगने के कारण लोगों का बदबू के कारण बैठना मुश्किल हो गया है। गोलू बाजपेई, श्याम सिंह, अंकुर त्रिवेदी, शिवांशु रावत ने बताया कि देरी करने वाले अफसरों पर कार्रवाई जाए ताकि जनता को राहत मिल सके।

Edited By: Shaswat Gupta