कानपुर, जागरण संवाददाता। शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी के नक्शे कदम पर चल पड़े मोहम्मद असलम के मामले में बुधवार को नया ट्विस्ट आ गया। असलम की मां ने पुलिस को दिए गए बयान में कहा है कि उसके बेटे की मानसिक हालत ठीक नहीं है। वहीं पुलिस का दावा है कि  वह नशेबाज और नशेबाजी के विवाद में मारपीट हुई थी।

कर्नलगंज थानाक्षेत्र के गम्मू खां का हाता निवासी असलम मंगलवार दोपहर थाने पहुंचा था। उसके सिर से खून बह रहा था। उसने पुलिस को बताया कि हिंदू बनना चाहता है। जबकि मोहल्ले वाले कह रहे हैं कि वह मुसलमान ही बना रहे। पड़ोसी मोहम्मद अली उसे खूब परेशान करता है। जब उससे पूछा गया कि वह हिंदू क्यों बनना चाहता है तो उसका जवाब था कि वह जिहादी नहीं बनना चाहता। वह आराम से जिंदगी बसर करना चाहता है, जहां कोई परेशान न करे। अगर उसे धर्म बदलने से रोका गया तो वह कहीं और भाग जाएगा। एसीपी कर्नलगंज त्रिपुरारी पांडेय ने बताया कि असलम से तहरीर मांगी गई थी, लेकिन उसने कोई लिखित शिकायत नहीं दी। पुलिस की जांच में पता चला है कि असलम नशेबाज है। नशेबाजी को लेकर क्षेत्र के टीटी नाम के किसी व्यक्ति से उसकी मारपीट हुई थी। वहीं असलम की मां फातिमा ने पुलिस को लिखित बयान दिया है कि उसके बेटे की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह आए दिन ऐसी हरकतें करता रहता है। अपने लिखित बयान में फातिमा ने यह भी लिखा है कि उसे लगता है कि उसके बेटे पर भूत प्रेत का कोई चक्कर है। 

Edited By: Shaswat Gupta