• चिकित्सक की कार का शीशा तोड़कर लैपटाप बैग चोरी

इन दिनों शहर में कार का शीशा तोड़कर सामान चोरी करने वाला गिरोह फिर से सक्रिय हो गया है। बीते चार दिनों के भीतर गिरोह के सदस्यों ने काकादेव, फजलगंज के बाद अब के-ब्लाक किदवई नगर में तीसरी घटना को अंजाम दिया है। वाई-ब्लाक किदवई नगर निवासी डा. राजेश बाजपेई मरीजों को देखने के लिए के-ब्लाक किदवई नगर स्थित नर्सिंगहोम गए थे। गाड़ी अस्पताल के बाहर खड़ी थी। इस बीच चोर गिरोह के सदस्यों ने कार की पिछली सीट के बाईं ओर के दरवाजे का शीशा तोड़कर उसमें रखा लैपटाप बैग उड़ा दिया। डा. बाजपेई ने बताया कि लैपटाप में मरीजों से संबंधित सभी जानकारियां थीं। नौबस्ता थाना प्रभारी सतीश कुमार सिंह ने बताया कि अस्पताल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज निकलवाए जा रहे हैं।

  • सिर काटकर पनकी नहर में फेंका गया शव 

पनकी नहर में सोमवार सुबह करीब 44 वर्षीय व्यक्ति का सिर कटा शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मृतक के शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था। माना जा रहा है कि कातिलों ने हत्या के बाद पहचान छिपाने के लिए सिर काटकर अलग फेंका और निर्वस्त्र करके नहर में फेंक दिया। देर शाम तक शव की शिनाख्त नहीं हो सकी। पुलिस के मुताबिक पनकी में रतनपुर चौकी क्षेत्र में नहर के किनारे कुछ लोगों ने शव उतराता देखकर कंट्रोल रूम को सूचना दी थी। इस पर चौकी पुलिस और फिर थाना प्रभारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। आसपास के लोगों को बुलाकर शव बाहर निकलवाया गया और पूछताछ की गई, लेकिन मृतक की पहचान नहीं हो सकी। शव देखकर लग रहा था कि युवक का सिर किसी धारदार हथियार से काटा गया था। शव करीब चार से पांच दिन पुराना होने और पानी में पड़े रहने के कारण फूल गया था। पनकी थाना प्रभारी दधिबल तिवारी ने बताया कि शव कहीं दूर से बहकर आया प्रतीत हो रहा है। शिनाख्त कराने के लिए नहर के अंतर्गत आने वाले थानों में फोटो भेजी गई है। आसपास के गांवों में भी जानकारी जुटाई जा रही है।

  • स्वजन से झगड़कर युवक ने किया आत्महत्या का प्रयास 

कल्याणपुर निवासी हरिशंकर के 22 वर्षीय बेटे मुकेश ने परिवारवालों से झगड़े के बाद फांसी लगाने की कोशिश की। ऐन वक्त पर यूपी 112 के जवानों ने आकर उसे बचाया।

पुलिस के मुताबिक मुकेश का सोमवार दोपहर किसी बात को लेकर मां रेखा व पत्नी माधुरी से विवाद हो गया था। आरोप है कि इसके बाद मुकेश ने कमरे का दरवाजा अंदर से बंद कर फांसी लगाने का प्रयास किया। स्वजनों ने दरवाजा खटखटाकर और आवाज देकर मुकेश को रोकने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माना। इस पर स्वजन ने पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी। कुछ ही देर में मौके पर पहुंचे पीआरवी (पुलिस रेस्पांस व्हीकल) के सिपाही मनोज कुमार, संजीव कुमार व महिला कांस्टेबल अर्चना ने दरवाजा तोड़कर युवक को बचाया। उसे पकड़कर थाने लाया गया और काउंसङ्क्षलग के बाद वापस स्वजन के सिपुर्द किया गया।

  • नाबालिग बहनों का पुलिस नहीं लगा पा रही सुराग

महाराजपुर थाना क्षेत्र के पुरवामीर निवासी एक पिता ने पुलिस पर सुनवाई न करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि बीते 28 जून से दोनों बेटियों को गांव के ही दो युवकों ने अपहृत कर लिया है। आरोपितों को कई अन्य लोगों का संरक्षण प्राप्त है। जिसके चलते पहले तो पुलिस मुकदमा ही नहीं लिख रही थी। बाद में मुकदमा तो लिखा लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। थाना प्रभारी महाराजपुर राघवेन्द्र सिंह ने बताया कि आरोपितों का पीडि़त के घर आना- जाना व उठना- बैठना था। आरोपित किशोरियों को बहला - फुसलाकर भगा ले गए है। तहरीर के आधार पर आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर तलाश की जा रही है। तीन टीमें आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए लगाई गई हैं।

  • पेंटर ने फांसी लगाकर जान दी 

पनकी थानाक्षेत्र के गंगागंज निवासी पेंटर श्यामू कश्यप ने रविवार देर रात फांसी लगाकर जान दे दी।

पुलिस के मुताबिक गंगागंज निवासी अमरनाथ का छोटा बेटा श्यामू ठेके पर पुताई का काम करता था। परिवार में मां गुलाब देवी, पिता, पत्नी रानी, बेटी वैष्णवी है। पिछले एक वर्ष से आर्थिक तंगी और कहीं काम न मिल पाने के कारण वह डिप्रेशन में था। रविवार रात खाना खाने के बाद श्यामू कमरे में सोने चला गया। देर रात उसने फांसी लगा ली। सोमवार सुबह मां गुलाब देवी चाय लेकर कमरे में पहुंचीं, तब जानकारी हुई। थाना प्रभारी दधिबल तिवारी ने बताया कि स्वजन ने मानसिक तनाव में आकर आत्महत्या करने की जानकारी दी है।

Edited By: Shaswat Gupta