इटावा, जेएनएन। शहर में हिंदू सेवा समिति के श्रीराम की प्रतिमा स्थापना समारोह में पहुंचे श्रीराम मंदिर न्यास समिति अयोध्या के कार्यकारी अध्यक्ष व भाजपा के पूर्व सांसद रामविलास वेदांती ने पत्रकारों से बातचीत में विवादास्पद बयान दिया। उन्होंने कहा कि एक धर्म विशेष के लोगों की आबादी बढ़ती जा रही है। कट्टर इस्लामिक लोग ज्यादा बच्चे पैदा कर रहे हैं, ऐसे में वे आतंकवादी ही बनेंगे। इसलिए हमारे प्रधानमंत्री ने घोषणा की है कि हम जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाएंगे। 

उन्होंने कहा कि राम मंदिर मसले पर सुप्रीम कोर्ट के जजों के हाथ में रिपोर्ट पहुंच चुकी है। सुप्रीम कोर्ट 17 नवंबर से पहले राम मंदिर पर अपना फैसला सुना सकता है।  उन्होंने सुप्रीम कोर्ट की तुलना हंस से करते हुए कहा कि जैसे हंस मोती चुनकर निर्णय करता है उसी तरह सुप्रीम कोर्ट भी दूध का दूध पानी का पानी करके फैसला सुनाने वाला है। वेदांती ने कहा कि आज भी देश का 80 फीसद मुसलमान अयोध्या में राम मंदिर बनाने के पक्ष में हैं। कई लोग अयोध्या में राममंदिर बनाने के लिए सामान लेकर गए थे, उनसे कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करिए।

बोले आज इटावा में श्रीराम की प्रतिमा की स्थापना हो रही है, इसके बाद अयोध्या में श्रीराम की मूर्ति की स्थापना होगी। उन्होंने यह भी कहा कि पीओके भारत का अंग है और आगे भी रहेगा। वास्तविक विजय दिवस उस दिन सामने आ गया था जब पीएम नरेंद्र मोदी ने 70 वर्षों से बंधक रहे जम्मू काश्मीर के अनुच्छेद धारा 370 व 35ए को एक झटके में समाप्त कर दिया था। उन्होंने हिंदू सेवा समिति द्वारा निकाली गई शोभायात्रा में भाग लिया। इस अवसर पर सांसद डा. रामशंकर कठेरिया मौजूद रहे।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप