संवाद सहयोगी, महाराजपुर : दिल्ली- हावड़ा रेल मार्ग पर चकेरी रेलवे स्टेशन से जुड़े महाराजपुर की छतमरा रेलवे क्रासिंग शुक्रवार से तीन दिन के लिए बंद कर दी गई। गेट नंबर 75 पर मरम्मत के चलते यह फैसला लिया गया। बिना पूर्व सूचना दिए लिए गए इस फैसले के चलते 50 से 60 गावों के हजारों लोगों का आवागमन बाधित हो गया है। लोगों को लगभग आठ किमी का चक्कर काटकर आना-जाना पड़ रहा है।

कानपुर-इलाहाबाद हाईवे पर चकेरी मोड़ से नर्वल तहसील मुख्यालय मार्ग व चकेरी पाली मार्ग छतमरा रेलवे क्रासिंग बंद होने से आवागमन भी बंद हो गया। दिल्ली- हावड़ा रेल मार्ग पर पड़ने वाले गेट नंबर 75 में मरम्मत का काम चल रहा है। फाटक रविवार तक बंद रहेगा। लगभग 50 गैंगमैनों की टीम मौके पर मरम्मत काम में लगी है। सभी ट्रेनें कॉशन पर निकाली जा रही हैं। गेट बंद होने से क्षेत्रीय लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। छतमरा, गौरया, पाली, तिरमा, कुढ़गाव, बुधेड़ा, नर्वल, तिलसहरी, पिपरगवा, जोधेपुर, जरकला, दीपपुर, उचटी, पाल्हेपुर, ख्वाजगीपुर, सवाइजपुर सहित लगभग आधा सैकड़ा गावों के हजारों लोगों को आठ किमी का चक्कर काटकर नर्वल मोड़ से निकलना पड़ रहा है। बाहर से आए लोगों को जानकारी के अभाव में भटकना पड़ रहा है। जानकारी के अभाव में लोग गेट तक आकर फिर वापस लौटने को मजबूर हैं। लोगों का आरोप है कि बिना किसी पूर्व सूचना के गेट बंद कर दिया गया। मौके पर आने के बाद रास्ता बंद होने का पता चल पाता है।

लोगों को हुई परेशानी

रेलवे क्रासिंग बंद होने से लोगों को दिनभर परेशानी का सामना करना पड़ा। लोग ये जानने का प्रयास करते रहे कि आखिर ये क्रासिंग कब खुलेगी लेकिन कोई भी जिम्मेदार ये बताने को तैयार न था कि आखिर ये काम कब तक पूरा हो जाएगा।

By Jagran