कानपुर, जेएनएन। Pulses Rate in Kanpur Market आयात से प्रतिबंध हटते ही मात्र एक सप्ताह में दालों के तेवर ढीले पड़ गए हैं। अकेले मूंग की कीमतों में ही 1,300 रुपये क्विंटल तक की कमी आ गई है। यही हाल अरहर और काली उड़द का भी है। तेजी से गिरती कीमतों से कारोबारी तो परेशान हो रहे हैं, लेकिन इससे आम आदमी की रसोई में फायदा हो रहा है। उसे पहले के मुकाबले अब दालें सस्ती मिलने लगी हैं। मूंग में तेजी से गिरावट आने की वजह ये भी है कि आयात से प्रतिबंध हटने के बाद नई फसल की आवक शुरू हो गई है। 

बोले कारोबारी

  • केंद्र सरकार के 15 मई को हुए आदेश के तहत अरहर, मूंग व उड़द के आयात से प्रतिबंध हटने से इन तीनों दलहन व इनकी दालों में महंगाई से कुछ राहत मिली है। वैसे देश मे इनकी पैदावार व विदेशों से आने वाली आयातित दलहन की मात्रा पर निर्भर करेगा कि भविष्य में इनकी कीमतों में कितनी तेजी या मंदी होगी।  - ज्ञानेश मिश्र, अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश खाद्य पदार्थ उद्योग व्यापार मंडल।
  • दलहन के आयात पर प्रतिबंध हटने व मूंग की नई फसल इसी सप्ताह आने से आम जनता को राहत मिली है।  प्रदेश में बुंदेलखंड सहित कई गल्ला मंडियां भी धीरे-धीरे खुलने लगी हैं। इससे दलहल व दालों की कीमतें घटी हैं। अभी दालों की कीमतें और नीचे आ सकती हैं। - अजय बाजपेई, उपाध्यक्ष, कानपुर गल्ला आढ़तिया संघ।

दलहन के भाव प्रति क्विंटल

दलहन  15 मई को    22 मई को
अरहर 7,000   6,600
उड़द काली   7,600 6,700
मूंग  7,400  6,800

दालों के भाव थोक बाजार में प्रति क्विंटल

दाल 15 मई को 22 मई को
अरहर (यूपी की) 10,200 9,700
अरहर (यूपी के बाहर की) 10,000 9,400
मूंग   8,800 7,500
मूंग धुली   9,600 8,800

                          

Edited By: Shaswat Gupta