इटावा, जागरण संवाददाता। बकाया जमा न करने को लेकर दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम के अधिकारी इन दिनों सख्त रवैया अपना रहे हैं। जनपद के 16 गांवों की बिजली काट दी गई है। इन गांवों में ज्यादातर लोगों ने बिजली का बकाया जमा नहीं किया था या फिर कटिया के द्वारा बिजली जला रहे थे। बिजली काट देने के बाद यहां पर पानी का संकट खड़ा हो गया है। वह लोग भी परेशान हैं जो इन गांवों में बिजली का बिल समय पर जमा करते हैं।

जानकारी करने पर पता चला कि ग्राम कंधेशी, मनगढ गढ़ी, जोनानी आदि गावों में 90 फीसद उपभोक्ता बिजली का बिल जमा नहीं कर रहे हैं जिससे बिजली अधिकारियों ने डीपी से ही पूरे गांव की बिजली काट दी। अधीक्षण अभियंता संदीप कुमार अग्रवाल ने बताया कि जिस गांव के लोग 80 से 90 प्रतिशत बिल नहीं दे रहे हैं और 10 प्रतिशत ही बिल दे रहे हैं।

इस तरह के सभी तकरीबन 16 गांवों की बिजली काट दी गई है आखिर पावर कारपोरेशन व सरकार को जवाब भी देना है। अधिशासी अभियंता सैफई खंड एके माथुर ने बताया कि हर गांव से शत-प्रतिशत बिल की अदायगी सुनिश्चित की गई। 

Edited By: Abhishek Agnihotri