कानपुर, जेएनएन। कैंट में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना के भाई की पत्नी से हार और मॉल रोड पर अकाउंटेंट की पत्नी से चेन लूटने वाले 25 हजार के इनामी बदमाश विनय उर्फ बबलू पांडेय को पुलिस ने बस्ती जिले से गिरफ्तार कर लिया। उसने लूट के बाद गर्लफ्रेंड से कहा था कि तगड़ा हाथ लगा है, इस बातचीत से सुराग मिलते ही पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पुलिस अब उसके साथी की तलाश में जुटी है।

18 जनवरी की रात कैंट स्थित लॉन के बाहर कैबिनेट मंत्री के चचेरे भाई पंकज महाना की पत्नी नीतू से बाइक सवार बदमाश ने हार लूट लिया था। इससे पहले गगन प्लाजा के सामने श्यामनगर निवासी दिनेशचंद्र शुक्ला की पत्नी किरन से चेन लूटी गई थी। जांच में सामने आया कि दोनों घटनाएं एक ही बदमाश ने की थीं। सर्विलांस की मदद से पुलिस ने बस्ती के ताड़ीजोत निवासी शातिर लुटेरे बबलू पांडेय को गिरफ्तार कर घटनाओं का पर्दाफाश किया। बबलू ने बताया कि वह रेलबाजार के फेथफुलगंज में रहकर बेगमपुरवा निवासी साथी यूसुफ के साथ उसकी बाइक लेकर वारदात को अंजाम देता था।
एसपी पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि घटना के बाद बबलू शुक्लागंज और लखनऊ होते हुए बस्ती भाग गया था। इंस्पेक्टर ललितमणि त्रिपाठी ने सर्विलांस और सीसीटीवी के माध्यम से उसकी गिरफ्तारी की। आरोपित के पास से लूटा गया हार, वारदात में प्रयुक्त बाइक मिली। लूटी गई चेन उसने यूसुफ को दी थी। उसकी तलाश की जा रही है।
गर्लफ्रेंड से बोला, तगड़ा हाथ लगा है
वारदात के कुछ दिन बाद फोन पर बबलू ने भदोही निवासी गर्लफ्रेंड से कहा था कि अबकी बार तगड़ा हाथ लगा है। तभी पुलिस को उसके घटना में शामिल होने का यकीन हो गया। एसपी ने बताया कि कैमरों में बबलू बाइक पर हेलमेट लगाए कैद हुआ था। अकेले वारदात करने वाले लुटेरों की सूची में भी उसका नाम था। तब उसका नंबर सर्विलांस पर लगाया।
लखनऊ व उन्नाव में कीं लाखों की लूट
इंस्पेक्टर ने बताया कि बबलू ने वर्ष 2015 में उन्नाव में चार साथियों के साथ सराफ से पांच किलो चांदी व 50 ग्राम सोना लूटा था। लखनऊ में व्यापारी को अगवा कर लूटा और कानपुर देहात में फेंक दिया था। हाल में पनकी में पुलिस मुठभेड़ में भी शामिल था। शहर व आसपास जिलों में उस पर दर्जन भर मुकदमे हैं।

Posted By: Abhishek