कानपुर, जागरण संवाददाता। वीरेंद्र स्वरूप एजुकेशन सेंटर श्याम नगर के छात्र और रोनिल सरकार की हत्या के मामले में 29 दिनों बाद पुलिस को कुछ नए तथ्य हासिल हुए हैं। पुलिस इन नए तथ्यों की मदद से हत्या का पर्दाफाश जल्द ही कर सकती है। हालांकि दूसरी ओर रोनिल के पिता संजय सरकार की ओर से एक ही याचिका अदालत में डाली गई है, जिसमें अदालत से अनुरोध किया गया है कि वह पुलिस की अब तक की विवेचना की विस्तृत आख्या मांगे। 

चकेरी के श्याम नगर निवासी संजय सरकार के 18वर्षीय बेटे रोनिल सरकार बीते 31 अक्टूबर को स्कूल से लौटते वक्त हत्या कर दी गई है। जिसका शव श्याम नगर स्थित भगवंत टटिया के पास रेलवे ट्रैक किनारे स्थित सेना के जंगल में एक नवम्बर को मिला था। अब नई टीम को पर्दाफाश में लगाया है, जिसमें पांच आइपीएस अफसर शामिल हैं।

नई टीम ने संदेह के आधार पर कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है और दावा है कि कुछ नए तथ्य प्रकाश में आए हैं। इस प्रकरण में पुलिस रोनिल के तीन नए दोस्तों से पूछताछ की है। दो ऐसे लोग हैं, जिनसे उसका पुराना विवाद सामने आया है। हालांकि पुलिस नये तथ्यों के बारे में अभी कुछ भी बात नहीं कर रही है। दूसरी ओर संजय सरकार के वकील सिद्धार्थ मिश्रा ने इस प्रकरण में पीड़ित पिता की ओर से अदालत में एक याचिका दायर करके हुए केस में जांच के बारे में जानकारी मांगी है। वहीं दूसरी ओर संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने घटनास्थल का दौरा करने के साथ ही नए तथ्यों पर विवेचकों के साथ बातचीत की। 

हत्याकांड के राजफाश के लिए चलाया हस्ताक्षर अभियान

रोनिल हत्याकांड के खुलासे की मांग को लेकर पीड़ित परिवार ने व्यापारियों के साथ मिलकर आरबीआई के सामने हस्ताक्षर अभियान चलाया। इस दौरान न्याय संघर्ष समिति, माल रोड व्यापारी एसोसिएशन और वैश्य महासंगठन के लोग मौजूद थे। जिसमें लोगों ने हाथों में मोमबत्ती लेकर रोनिल को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर रोनिल के पिता संजय सरकार, मां मीता समेत पवन गुप्ता, अभिमन्यु गुप्ता, दिनेश बाजपेई, संजय गुप्ता, अजय तिवारी, विनीत कुमार समेत आदि मौजूद थे।

Edited By: Ekantar Gupta

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट