उरई, जागरण संवाददाता। मध्य प्रदेश से तस्करी कर लायी गई शराब खेप के साथ स्थानीय पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपित लंबे समय से अवैध शराब का धंधा कर रहे थे। उनके पास से दो कार जब्त की गईं हैं। विधानसभा चुनाव में ग्रामीण क्षेत्र में बेचने के लिए यह शराब लाई गई थी। 

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पुलिस ने चेकिंग अभियान तेज कर दिया है। शनिवार की रात शुक्ला पेट्रोल पंप के पास पुलिस ने चेकिंग के दौरान एक  स्विफ्ट डिजायर गाड़ी रोकी तो उसमें बैठे तीन लोग सकपका गए। जिसके बाद गाड़ी की डिग्गी खोलकर देखी गई।  गाड़ी में शराब की पेटियां भरी हुई थीं। पुलिस ने तीनों शराब तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपितों में अंकित दीक्षित निवासी मोहल्ला जवाहर नगर रामपुरा, गौरवकांत निवासी ग्राम छानी अहीर व रामसिंह निवासी ग्राम कुसमरा थाना रेंढऱ शामिल हैं। आरोपितों की एक और गाड़ी पुलिस ने पकड़ी। दोनों गाडिय़ों में 19 पेटी शराब मिली है। पुलिस ने बाद में आबकारी इंस्पेक्टर को सूचना दी। रविवार को पहुंचे आबकारी इंस्पेक्टर ने जब जांच की तो शराब अवैध पाई गई। यह शराब मप्र से लाई गई थी। सीओ संतोष कुमार ने बताया कि तीनों शराब तस्कर कुठौंद क्षेत्र के साथ रामपुरा क्षेत्र में भी शराब की तस्करी करते थे। मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया गया है।

पुलिस पर भी उठ रहे सवाल 

विधानसभा चुनाव को लेकर जिले की सभी सीमाओं पर चेङ्क्षकग अभियान तेज कर दिया गया है। इसी तरह रामपुरा क्षेत्र की सीमा भी मप्र की सीमा से जुड़ी है। वहां बैरियर भी लगा है  इसके बावजूद अवैध शराब की खेप लेकर गाड़ी कैसे निकल आयी इसको लेकर पुलिस पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। 

गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी

पुलिस अधीक्षक रवि कुमार का कहना है कि इस बात की जांच करायी जाएगी कि आरोपित कैसे एमपी से शराब लादकर लाने में सफल हो गए। आरोपितों के विरुद्ध गैंगस्टर की कार्रवाई भी जाएगी। 

Edited By: Abhishek Verma