कानपुर, जागरण संवाददाता। बिधनू थाना क्षेत्र के न्यू आजाद नगर चौकी में रात में प्रभारी दारोगा के सो जाने पर बक्सा समेत पिस्टल, कारतूस, वर्दी, दो मोबाइल, जरूरी दस्तावेज चोरी की घटना से हुई किरकिरी से लगा दाग आखिर पुलिस ने मंगलवार को धो दिया। पुलिस ज्वाइंट कमिश्नर के नेतृत्व दो टीमों और थाना पुलिस ने दो शातिर चोरों को गिरफ्तार कर लिया और उनकी निशानदेही पर न्यूरी के जंगल से पिस्टल और कारतूस भी बरामद किया है। हालांकि बरामदगी के दौरान भागने का प्रयास कर रहे पकड़े गए बदमाशों से मुठभेड़ हुई, जिसमें गोली लगने से एक जख्मी भी हो गया। पकड़े गए शातिर चोर कांशीराम कालोनी के 25 वर्षीय शेखू और 24 वर्षीय फैज हैं।

क्या हुई थी घटना

बीते नौ और दस नवंबर की देर रात न्यू आजाद नगर पुलिस चौकी से प्रभारी सुधाकर पांडेय का ताला लगा बक्सा चोर कमरे के अंदर से उठाकर ले गए थे। उस समय चौकी प्रभारी दारोगा कमरे में सो रहे थे। बक्से में चौकी प्रभारी की पिस्टल, 10 कारतूस, वर्दी, दो मोबाइल, कुछ नकदी और जरूरी दस्तावेज चोरी हुए थे। चोरों ने कुछ दूरी पर एक कबाड़ की दुकान के पीछे बक्से का ताला तोड़कर वर्दी और दस्तावेज जला दिए थे और नकदी समेत पिस्टल, कारतूस और दो मोबाइल निकाकर बक्सा छोड़ गए थे। इस घटना पुलिस की काफी किरकिरी हुई थी और पुलिस पूरी सक्रियता से चोरों की तलाश कर रही थी। 

इस तरह पकड़े गए शातिर बदमाश

पहले दिन पुलिस टीम को दोनों मोबाइलों की अंतिम लोकेशन प्रभारी के कमरे में ही मिली थी। घटना के छह दिन बाद चौकी प्रभारी के चोरी हुआ एक मोबाइल करीब दस मिनट के लिए आन हुआ। इसपर सर्विलांस टीम ने  लोकेशन ट्रेस की थी। कुछ देर बाद फिर मोबाइल स्विच आफ कर दिया गया था। मोबाइल की लोकेशन कांशीराम कालोनी की मिली थी। ज्वाइंट कमिश्नर के नेतृत्व में घटना के राजफाश में लगी दो टीमें थाना पुलिस के साथ मुखबिर तंत्रों को सक्रिय कर दिया था। सटीक सूचना पर पुलिस ने सोमवार देर रात कांशीराम कालोनी से शेखू और कर्नलगंज निवासी फैज को गिरफ्तार कर लिया। उनका एक साथी तौफीक भागने में सफल हो गया।

न्यूरी के जंगल में हुई मुठभेड़

पूछताछ में शेखू ने उरियारा चौराहे से मेहरवान सिंह पुरवा रोड पर स्थित रेलवे लाइन पुल के पास न्यूरी गांव के जंगल में पुलिया के नीचे पिस्टल और कारतूस छिपाने की जानकारी दी। निशानदेही पर पुलिस मंगलवार सुबह करीब साढ़े पांच बजे उसे लेकर न्यूरी गांव के जंगल में पुलिया के पास पहुंची। पुलिस टीम ने ईंटों के नीचे कारतूस और लोड पिस्टल रखा गया था। पुलिया के नीचे पिस्टल और कारतूस निकालकर शेखू ने पुलिस पर फायर कर दिया और भागने का प्रयास करने लगा। बचाव में पुलिस ने फायरिंग की और पैर में गोली लगने से शेखू जख्मी होकर जमीन पर गिर पड़ा।

अस्तपाल में भर्ती कराया घायल बदमाश

पुलिस ने घायल शेखू को एलएलआर (हैलट) अस्पताल में भर्ती कराया। जानकारी पर घटनास्थल पहुंचे ज्वाइंट कमिश्नर प्रमोद कुमार, घाटमपुर एसीपी दिनेश कुमार शुक्ला ने फारेंसिक टीम बुलाकर घटना स्थल से साक्ष्य जुटाए। ज्वाइंट कमिश्नर ने बताया कि तौफीक चौकी प्रभारी के दोनों मोबाइल लेकर फरार हो गया है, जिसकी तलाश की जा रही है। हिरासत में आरोपितों से घटना को अंजाम देने की मंशा के बारे में पूछताछ की जा रही है।

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट