कानपुर, जेएनएन। 17 मई को शहर से फतेहपुर स्थित पैतृक गांव कंसाही लौटने के दौरान घाटमपुर कोतवाली के सीमावर्ती गांव जसरा में ग्रामीणों की पिटाई के बाद पुलिस कस्टडी से लापता हिस्ट्रीशीटर राजेलाल सोनकर आखिरकार कन्नौज में हत्थे चढ़ गया। परिजनों के आए दिन हंगामा व बवाल करने से खुद को कटघरे में खड़ी मान रही पुलिस अब राहत की सांस ले रही है।
कंसाही निवासी राजेलाल सोनकर हिस्ट्रीशीटर है। पुलिस से बचने के लिए वह शहर के थाना बजरिया के मोहल्ला रामबाग में रहने लगा था। 17 मई को गांव जाने के लिए घर से निकला। राजेलाल पुरईहार मोड़ पर बस से उतर कर गांव जा रहा था। देर शाम गांव जसरा से गुजरने के दौरान उसने महिलाओं के साथ छेड़छाड़ कर दी थी। शोर सुन कर दौड़े ग्रामीणों ने राजेलाल की जमकर पिटाई की थी और पीआरवी के पुलिस कर्मियों को सौंप दिया था। पुलिस कर्मी पहले उसे चौकी साढ़ और कुछ देर बाद कोतवाली छोड़ गए थे।
बगैर कार्रवाई छोडऩा बना था पुलिस के गले की फांस
पीआरवी द्वारा कोतवाली लाए गए राजेलाल को अगले दिन पुलिस ने बगैर कोई कार्रवाई किए छोड़ दिया था। जिसके बाद वह लापता हो गया था। पुलिस को गलती का अहसास तब हुआ जब शातिर राजेलाल के लापता होने के बाद परिजनों ने गांव, साढ़ चौकी व कोतवाली पहुंच हंगामा शुरू कर दिया था।
पत्नी ने 13 ग्रामीणों के खिलाफ दर्ज कराया था अपहरण का मुकदमा
आए दिन बवाल कर पुलिस को दबाव में लेने वाले राजेलाल के परिजनों के सामने पुलिस खुद को बेबस महसूस कर रही थी। जिसके चलते राजेलाल को खुद कस्टडी में लेने वाली पुलिस ने लापता हिस्ट्रीशीटर की पत्नी बबली की तहरीर पर छेड़छाड़ पीडि़त महिला, उसके पति व देवर के खिलाफ अपहरण जैसी गम्भीर धारा में मुकदमा दर्ज करने में देरी नही की थी।
ए क्लास हिस्ट्रीशीटर, कई मामलों में है सजा
राजेलाल व उसका भाई कमलेश बकेवर थाने के ए क्लास हिस्ट्रीशीटर हैं। लूट, डकैती व राहजनी जैसे दर्जन भर मामलों में नामजद दोनों भाइयों को कई मामलों में सजा भी हो चुकी है। सीओ शैलेन्द्र सिंह ने बताया कि गोविंदनगर थाना के एक मामले में राजेलाल को 2 वर्ष की सजा है। उसका पिता भी अपराधी था। जिसकी कुछ वर्ष पूर्व हत्या हो चुकी है।
मुखबिर की सूचना पर छापा मार पकड़ा
परिजनों के आए दिन बवाल और जांच में फंसने से घबराई पुलिस ने राजेलाल को तलाशने में दिन रात एक कर दिया। मुखबिर तंत्र की सूचना पर पुलिस ने कन्नौज जिले के एक गांव में छापा मार कर उसे पकड़ लाई और उच्चाधिकारियों को सूचना दी। प्रभारी निरीक्षक हरमीत सिंह ने राजेलाल के पकड़े जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि राजेलाल से पूछताछ की जा रही है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस