जागरण संवाददाता, कानपुर : 12 लाख के पाइप चोरी होने और त्योहार में मजदूर न मिलने से सीसामऊ नाला समेत पांच नालों को बंद करने का काम रुक गया है। बकरमंडी से सीसामऊ नाले का एक हिस्सा बंद करने का काम 31 मार्च तक पूरा होना था लेकिन अब यह समय पर पूरा होता नजर नहीं आ रहा है।

सीसामऊ नाला के साथ परमिया पुरवा, परमट, गुप्तार व रानी घाट नाला बंद होना है। इसका काम नई दिल्ली की जीएस जौली इन्फ्रास्टक्चर कंपनी द्वारा किया जा रहा है। पहले चरण में बकरमंडी से सीसामऊ नाले का एक हिस्सा 31 मार्च तक बंद होना है बाकी प्रोजेक्ट अक्टूबर 2018 तक पूरा होना है। सीवर लाइन डालने के लिए कंपनी द्वारा गुप्तार घाट में रखे गए 12 लाख के पाइप 2 मार्च की रात चोरी हो गए थे। इसके चलते काम रुक गया था, रही सही कसर त्योहार में मजदूर न मिलने ने पूरी कर दी। भैरोघाट चौराहा वीआइपी रोड में पंपिंग स्टेशन निर्माण के साथ ही बकरमंडी में चल रहा काम भी रुक गया है।

--------------

पाइप चोरी होने और त्योहार के चलते मजदूर न मिलने से काम प्रभावित हुआ है। सीसामऊ नाले का एक हिस्सा 31 मार्च तक बंद कराने को लेकर दिन रात काम कराया जाएगा। काम कि स्थिति को देखते हुए 15 अप्रैल तक समय लग सकता है।

-घनश्याम त्रिवेदी, परियोजना प्रबंधक जल निगम

होली के दिन पाइप चोरी होने की फीलखाना थाने में तहरीर दी है। आला अफसरों को भी जानकारी दे दी है। कोलकाता से पाइप मांगने में एक पखवारा लग जाता है, इसके कारण काम में देरी हो जाएगी।

-शैलेश सिंह, परियोजना प्रबंधक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस