कानपुर, जेएनएन। कानपुर रेलवे स्टेशन पर एक यात्री की बात सुनकर सभी के होश उड़ गए। यात्री की बात सुनते ही रेलवे स्टेशन पर अफरा तफरी मच गई और पूछताछ खिड़की पर मौजदू लोगों ने उससे दूरी बना ली। आरपीएफ की सूचना पर आई टीम ने जांच की तो तापमान अधिक मिलने पर उसे साथ ले गई।

रेलवे स्टेशन पर पहुंचे एक यात्री ने कहा, सर मैं कोरोना वायरस से ग्रसित हूं, मुझे मथुरा जाना है, मेरी तबियत ठीक नहीं है... कोई ट्रेन आने वाली हो तो बता दीजिए। उसकी बात सुनने के बाद आरपीएफ के असिस्टेंट कमाडेंट आरएन पांडेय व उनके साथ चल रहे जवानों ने अधेड़ से दूरी बना ली। उसकी बेंच को चारों तरफ से घेर लिया गया। असिस्टेंट कमांडेंट ने मामले की जानकारी कंट्रोल रूम को देते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम को बुलाया। टीम ने पहुंचकर पहले थर्मल स्क्रीनिंग की। इसमें उसके शरीर का तापमान 101 डिग्री से अधिक था। एहतियातन टीम उसे अपने साथ ले गई।

आरपीएफ के असिस्टेंट कमांडेंट आरएन पांडेय ने बताया कि प्लेटफार्म नंबर नौ पर एक अधेड़ मॉस्क लगाए बैठा था। पूछने पर अधेड़ ने अयोध्या से आने और मथुरा जाने की बात कही। पूछताछ में उसने अपना नाम मथुरा निवासी बेनी प्रसाद माधव बताया। डॉक्टरों की टीम के पहुंचने से पहले अधेड़ के पास जाने की कोई हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पहुंचकर बेनी प्रसाद के पास उपलब्ध दवाइयां देखी। स्टेशन निदेशक ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम अधेड़ को साथ ले गई है।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस