सरकारी जमीन बेचने की शिकायत, रिपोर्ट लगाई दुष्कर्म के मामले की

संवाद सहयोगी, घाटमपुर : समाधान दिवस में शिकायत सरकारी जमीन के बैनामे को लेकर हुई और उसमें जांच रिपोर्ट नाबालिग के साथ दुष्कर्म के मामले की लगा दी गई। शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि यह सब गलती से नहीं, बल्कि सोची-समझी साजिश के तहत किया गया। <ङ्कक्चष्टक्त्ररुस्न>बीते छह अगस्त को तहसील परिसर में आयोजित समाधान दिवस में जिलाधिकारी विशाख जी और सीडीओ पहुंचे थे। इसी दौरान यहां जवाहर नगर उत्तरी मोहल्ले के ज्ञान सिंह सचान, नीरजा सचान, अनिल कुमार, महेंद्र कुमार आदि ने तहसील में कार्यरत एक अस्थाई कर्मचारी पर सरकारी नान जेडए की जमीन का बैनामा कराने और उस पर निर्माण कराने का आरोप लगाया था जबकि नान जेड भूमि वह जमीन होती है, जो जमींदारी विनाश अधिनियम के दायरे में नहीं आती है और इस पर सरकार का हक होता है। मामले की जांच नायब तहसीलदार को मिली और शिकायत नंबर- 30085022000689 दिया गया। इसी दिन एक महिला ने नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के आरोपितों की गिरफ्तारी न होने पर पुलिस के खिलाफ शिकायत की थी।<ङ्कक्चष्टक्त्ररुस्न><ङ्कक्चष्टक्त्ररुस्न>इस तरह से हुआ खेल<ङ्कक्चष्टक्त्ररुस्न>पुलिस की शिकायत करने वाली महिला को भी वही शिकायत नंबर दे दिया गया। हालांकि, रसीद देखने पर ऐसा लगता है कि पहले उन्हें जो नंबर मिला उसके आखिर के तीन नंबर अलग थे, जिन्हें बाद में काटकर बदला गया। ऐसे में दोनों का शिकायत नंबर एक ही हो गया। कब्जे की शिकायत करने वालों ने जब नंबर के आधार पर शिकायत की आनलाइन प्रगति देखी तो उसमें दुष्कर्म के मामले की जांच रिपोर्ट लगी पाई। कब्जे की शिकायत का क्या हुआ, इस बारे में कुछ पता नहीं चला। वहीं, जब इस मामले में एसडीएम अमित ओमर का कहना है कि शिकायत मिलती है तो जांच की जाएगी।

Edited By: Jagran