कानपुर, जेएनएन। यूपी बोर्ड के स्कूलों में छठवीं से लेकर 10वीं तक के छात्रों की पढ़ाई आनलाइन संचालित हो रही है। अब जल्द ही स्कूलों में 11वीं के छात्रों को आनलाइन प्रवेश देकर, उनकी पढ़ाई भी शुरू करा दी जाएगी। जितने छात्रों को बोर्ड परीक्षा में शामिल होना था, उन सभी का डाटा तैयार कर लिया गया है। वहीं, स्कूल बंद होने के चलते फिलहाल प्रवेश प्रक्रिया को आनलाइन रखा जाएगा। डीआइओएस सतीश तिवारी का कहना है, कि वह प्रवेश को लेकर बोर्ड सचिव के आदेश का इंतजार कर रहे हैं। मौखिक रूप से प्रवेश के संकेत मिल गए हैं। इसलिए स्कूलों को ऑनलाइन प्रवेश के निर्देश भी दे दिए हैं। हालांकि आदेश आने के बाद ही अभिभावक व छात्र स्कूलों से संपर्क करें।

20 फीसद अतिरिक्त सीटें करनी होंगी : यूपी बोर्ड से संबद्ध स्कूल संचालकों को इस सत्र में 11वीं में दाखिला देने के लिए करीब 20 फीसद अतिरिक्त सीटें बढ़ानी होंगी। इसका मुख्य कारण, 10वीं के सभी छात्रों को प्रोन्नत किया जाना है। हालांकि, बोर्ड के फैसले से उन संचालकों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं, जिन स्कूलों में हर साल 11वीं में प्रवेश को लेकर मारामारी रहती थी।

हर साल प्रोविजनल से होते थे प्रवेश : यूपी बोर्ड के स्कूलों में जब 10वीं का परिणाम बोर्ड से जारी होता था, उससे पहले 11वीं में प्रोविजनल से प्रवेश होते थे। इसके लिए स्कूलों द्वारा छात्रों को प्रवेश दे दिया जाता था, हालांकि जब उनका परिणाम जारी होता था, तब अंकतालिका व जरूरी दस्तावेज जमा कराए जाते थे।

इनका ये है कहना

Edited By: Akash Dwivedi