कानपुर, जेएनएन। साठ साल के एक बुजुर्ग को किसी अपने से इतनी गिला-शिकवा हो गई कि वो जान देने के लिए जाजमऊ गंगा पुल पर पहुंच गए। पुल से उन्होंने गंगा नदी में छलांग लगा दी तो आसपास के लोगों में चीख पुकार मच गई। गोताखोरों ने काफी मशक्कत के बाद बुजुर्ग को नदी से बाहर निकाल लिया और पुलिस ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया है।

नर्वल के टौंस गांव में रहने वाले 60 वर्षीय गंगाराम खेती-किसानी करते हैं। परिवार में पत्नी कमलेश देवी, बेटे नीरज और शीलू है। उनके दोनों बेटे लखनऊ में रहकर प्राइवेट नौकरी करते हैं। खेती से होने वाली आय से वह अपने साथ पत्नी का गुजर बसर करते आ रहे हैं। कभी कभार बेटों की भी मदद कर देते हैं। पिछले कुछ दिनों से वह काफी तनाव में थे।

शराब पीने पर पत्नी से हुआ विवाद

गंगाराम पहले से शराब पीते थे, जिसे लेकर पत्नी कमलेश से उनका अक्सर विवाद होता था। मंगलवार को दिन में ही गंगाराम शराब के नशे में धुत होकर घर पहुंचे। इसपर पत्नी कमलेश ने विरोध किया तो दोनों के बीच फिर विवाद हो गया। पत्नी का टोकना इतना नागवार गुजरा कि गंगाराम ने जान देने की ठान ली। पत्नी से हुई गिला-शिकवा से आहत गंगाराम चकेरी के जाजमऊ गंगा पुल पर पहुंच गए। कुछ देर पुल पर खड़े रहने के बाद उन्होंने नदी में छलांग लगा दी। उनके नदी में गिरते देखकर आसपास के लोगों ने शोर मचाया तो गोताखोर भी कूद गए। गोताखोरों ने काफी मशक्कत के बाद गंगाराम को बाहर निकाला। मौके पर आई जाजमऊ चौकी पुलिस पूछताछ के बाद उन्हें पास के एक निजी अस्पताल में ले गई।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस