कानपुर, [जागरण स्पेशल]। दिनचर्या में कई कार्यों से लेकर शरीर की सफाई तक, सारा भार हाथों पर होता है। हाथों से हम पैर तो धोते हैं मगर, यदि आपसे कोई कहे कि पैरों से हाथ धोइए तो! आश्चर्य होगा। हालांकि कोरोना के इस संकट काल में हाथों को वायरस से बचाने के लिए अब यह भी मुमकिन हो गया है। कोरोना से बचने के लिए हाथ धोना जरूरी है मगर, नल के टैब को छुए बिना ऐसा नहीं हो सकता। हाथ धोने के बाद भी नल बंद करने के लिए टैब छूना पड़ता है। ऐसे में फजलगंज इलेक्ट्रिक लोको शेड में कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए वेस्ट मैटीरियल से हाथ धुलने वाली फुट पुश मशीन तैयार की है। मतलब, पैर की मदद से टैब चालू और बंद होगा।

एक पैडल पैर से दबाते नल चालू होगा तो दूसरा पैडल दबाने से निकलेगा हैंडवॉश

शेड के कर्मचारियों ने बताया कि लोहे के एंगिल पर प्लेटफार्म तैयार किया गया है। इसमें एक पुश टैब और हैंडवॉश की बॉटल लगाने का स्थान बनाया है। दाहिनी ओर जमीन पर लगे पैडल को दबाने पर नल चालू हो जाएगा और बाएं ओर के पैडल को दबाने पर हैंडवाश निकलेगा। पैर हटाते ही पानी और हैंडवॉश का लिक्विड निकलना बंद हो जाएगा। प्रयोग के तौर पर पहले कर्मचारियों ने एक मशीन तैयार की, जिसे लोको शेड के मुख्यद्वार के पास लगाया गया है। पानी की सुविधा के लिए मशीन के टैब को पानी की टंकी से जोड़ा गया है।

डिजाइन बदलकर तैयार की तीन मशीनें

लोको शेड कर्मचारियों ने फुट पुश मशीन के डिजाइन में थोड़ा बदलाव किया है। इसके लिए लोहे के एंगल का बड़ा प्लेटफार्म तैयार किया गया। उसके ऊपर बड़ा लोहे का ड्रम रखकर टैब और हैंडवाश बॉटल को दोनों पैडलों से कनेक्ट किया गया है। कर्मचारियों के अनुसार बदले डिजाइन की तीन मशीन तैयार की गई हैं। इसकी फिनिङ्क्षशग का काम शेष है। इन तीनों मशीनों को रेलवे अस्पताल को दान दिया जाएगा। 

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस