मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कानपुर, [समीर दीक्षित]। यातायात नियमों की कड़ाई के लिए जहां केंद्र सरकार ने बढ़ी जुर्माना राशि के साथ देश में संशोधित मोटरयान अधिनियम को लागू कर दिया है, वहीं छत्रपति शाहू्रजी महाराज विश्वविद्यालय ने बेहतर पहल कर नया नियम बना दिया है। छात्र-छात्राएं दुर्घटना का शिकार न हों, इसके लिए विश्वविद्यालय प्रशासन ने बिना हेलमेट छात्र-छात्राओं और कर्मियों के प्रवेश पर रोक लगा दी है।

विश्वविद्यालय में रोज दो हजार से अधिक छात्र-छात्राएं दोपहिया वाहन लेकर आते हैं। अधिकतर बिना हेलमेट ही अपने वाहन लेकर गुजरते हैं। उन्हें कैंपस में किसी तरह का डर भी नहीं रहता। विवि प्रशासन ने बिना हेलमेट छात्र-छात्राओं के परिसर में प्रवेश पर रोक का निर्णय लिया है।

चीफ प्रॉक्टर डॉ.नीरज कुमार सिंह ने बताया कि सोमवार से इस नियम को लागू करा देंगे। उन्होंने कहा कि आए दिन ही सुनने को मिलता है कि बिना हेलमेट छात्र या छात्रा दुर्घटना के शिकार हुए। ऐसे मामलों पर अंकुश लगाने के लिए यह जरूरी था कि बिना हेलमेट छात्र या छात्रा को प्रवेश न दिया जाए। इसके लिए विवि प्रशासन पुलिस की भी मदद लेगा। सभी छात्र और छात्राओं, कर्मियों को हेलमेट लगाकर ही कैंपस आना होगा।

पार्किंग की व्यवस्था भी सुधारी जाएगी

विश्वविद्यालय में जगह-जगह वाहन खड़े होते हैं, अब पार्किंग व्यवस्था को भी सुधारा जाएगा। जिस विभाग में छात्र-छात्राएं जाना चाहते हैं, उनके वाहन वहीं खड़े कराए जाएंगे। कोई बाहरी छात्र कैंपस में वाहन लेकर आता है तो ïउन्हें मुख्य गेट पर ही संबंधित विभाग में जाने की जानकारी देनी होगी।

--कैंपस में अनुशासन बना रहे, इसके लिए जरूरी है कि छात्र-छात्राएं हेलमेट पहनकर आएं। यह उनकी सुरक्षा के लिए जरूरी है। हालांकि किसी छात्र या छात्रा को परेशान नहीं किया जाएगा। -प्रो.नीलिमा गुप्ता, कुलपति, सीएसजेएमयू 

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप