कानपुर, [समीर दीक्षित]। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय अपने यहां से पढ़ाई पूरी कर चुके छात्र-छात्राओं को भी स्टार्टअप शुरू करने का मौका देगा। हालांकि इसमें पांच वर्ष पहले तक पढ़ाई पूरी कर चुके पुराने छात्र छात्राओं को ही मौका मिलेगा। दरअसल, यहां इस सत्र से इंक्यूबेशन सेंटर शुरू हो जाएगा और दूसरे एंटरप्रेन्योरियल कॉन्क्लेव की भी कार्ययोजना बन रही है। विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि स्टार्टअप के लिए तैयार नीति में पूर्व छात्रों को भी मौका देने पर सहमति बनी है। यहां के छात्र छात्राएं नौकरी के बजाय उद्यमिता अपना सकें और नौकरी देने वाले बनें, इसके लिए यह तैयारी की जा रही है।

वित्तीय व अन्य मदद मुहैया कराएगा सीएसजेएमयू

किसी भी स्टार्टअप के लिए सबसे महती आवश्यकता है फंड जुटाना। इसके लिए सीएसजेएमयू छात्र-छात्राओं की पूरी मदद करेगा। हालांकि छात्र-छात्राओं को इस बात का भी ध्यान रखना होगा कि उनका आइडिया चयनित हो। फिर एंटरप्रेन्योर सेल के सदस्य उस स्टार्टअप के लिए स्थान, मशीनें आदि अन्य सुविधाओं का भी प्रबंध कराएंगे। जो एल्युमिनाई स्टार्टअप शुरू करेंगे, वह यहां के मौजूद छात्र-छात्राओं से भी रूबरू होंगे। विश्वविद्यालय की इस योजना के लिए राज्य सरकार सीएसजेएमयू को दस लाख रुपये तक का अनुदान भी देगी।

विवि की वेबसाइट पर पूरी जानकारी

जो छात्र-छात्राएं अपना आइडिया तैयार करके आवेदन करना चाहेंगे, वह विश्वविद्यालय की वेबसाइट से पूरी जानकारी ले सकते हैं। 15 दिनों में विश्वविद्यालय की एंटरप्रेन्योर सेल की ओर से इस पर लिंक उपलब्ध करा दिया जाएगा। इस पर क्लिक करके आवेदन किया जा सकेगा। सीएसजेएमयू की कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता का कहना है कि पढ़ाई पूरी करने के बाद हर छात्र चाहता है कि उसे रोजगार मिले। इसी उद्देश्य के साथ छात्रों के लिए इंक्यूबेशन सेंटर शुरू कर रहे हैं। वह नौकरी करने वाले के बजाए देने वाले बन सकें, इसके लिए उनकी पूरी मदद की जाएगी।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप