कानपुर, जेएनएन। गुजरात से कपड़े और केमिकल का कारोबार करने वालों के लिए खुशखबरी है। कानपुर से मुंबई जाने वाली फ्लाइट ही अगले माह से अहमदाबाद के साथ आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा के लिए कनेक्टिंग फ्लाइट बन जाएगी। इसके लिए तीन अप्रैल से मुंबई की फ्लाइट का समय सवा तीन घंटे पहले करने पर मंथन हो रहा है। दोनों शहरों के लिए कानपुर एयरपोर्ट से सीधे टिकट जारी होंगे। विमान में पार्सल भी कानपुर से बुक हो जाएगा जो अहमदाबाद और विजयवाड़ा में मिल जाएगा।
अहिरवां एयरपोर्ट पर अभी मुंबई की फ्लाइट दोपहर 3.20 बजे आती है। यह दोपहर 3.45 बजे मुंबई के लिए उड़ान भरती है। इस समय की वजह से लोगों को मुंबई से अहमदाबाद या विजयवाड़ा जाने वाली फ्लाइट से कनेक्टिविटी नहीं मिल पा रही है। कानपुर में रहने वाला गुजराती समाज काफी दिनों से गुजरात के लिए फ्लाइट की मांग कर रहा था। कपड़ा और केमिकल कारोबारी भी इसकी जरूरत महसूस कर रहे थे।
भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण और एयर लाइंस कंपनी के बीच मंथन चल रहा है कि दोपहर 3.45 बजे उड़ान भरने वाली फ्लाइट दोपहर 12.30 बजे कर दी जाए। इससे यात्री मुंबई में विमान बदल कर रात 8.35 बजे तक अहमदाबाद पहुंचेंगे। ऐसे ही विजयवाड़ा की यात्रा भी शाम 7.30 बजे पूरी हो जाएगी। कानपुर से लदे पार्सल भी एयर लाइंस कंपनी के कर्मचारी मुंबई में पर उतार कर अहमदाबाद या विजयवाड़ा की फ्लाइट में रखेंगे।
गुजरात की यह टेस्ट फ्लाइट
माना जा रहा है कि यह गुजरात के लिए टेस्ट फ्लाइट है। अगर अहमदाबाद के लिए टिकटों की बिक्री बढ़ी तो सीधी फ्लाइट एयर लाइंस कंपनी शुरू कर सकती है। अहिरवां एयरपोर्ट के निदेशक जमील खालिक का कहना है मुंबई की फ्लाइट का समय अप्रैल से बदलने पर चर्चा हो रही है। कानपुर से दोपहर 12.30 बजे मुंबई की फ्लाइट उड़ेगी जिससे अहमदाबाद और विजयवाड़ा की फ्लाइट मिल जाएंगी।
जानिए, इनकी क्या है राय
इस फ्लाइट से कानपुर में रहने वाले गुजराती समाज के लोगों को बहुत फायदा होगा। साढ़े तीन सौ गुजराती परिवार शहर में रहते हैं। सीधे गुजरात की फ्लाइट मिलती तो बहुत अच्छा होता। -शरद जॉनी, महामंत्री, श्री गुजराती समाज। 
अहमदाबाद के लिए फ्लाइट मिलने से काफी लाभ होगा, लेकिन कपड़ा कारोबारियों को सूरत की फ्लाइट मिल जाती तो ज्यादा अच्छा होता। इससे यात्रा का समय बचेगा। -श्रीकृष्ण गुप्ता, वरिष्ठ उपाध्यक्ष, कानपुर कपड़ा कमेटी। 
अहमदाबाद में केमिकल का काफी कारोबार है और कानपुर में केमिकल का बड़ा हिस्सा वहीं से आता है। केमिकल कारोबार के लिए यह बहुत अच्छा है। -प्रेम मनोहर गुप्ता, मंत्री, यूपी डाइज एंड केमिकल एसोसिएशन।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस