कानपुर, जेएनएन। आने वाले समय में अभ्यर्थी के शैक्षणिक प्रमाणपत्रों की सत्यता परखने के लिए नियोक्ता को विश्वविद्यालय या बोर्ड की मुहर का इंतजार नहीं करना होगा। वह तत्काल अभ्यर्थी की मार्कशीट व डिग्री की जांच कर सकेंगे। प्रमाणपत्रों को डिजिटल करके पोर्टल में जोडऩे की तैयारी हो चुकी है। छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (सीएसजेएमयू) ने नेशनल एकेडमिक डिपॉजिटरी (नेड) पोर्टल में छात्र-छात्राओं का पंजीकरण भी अनिवार्य कर दिया है।

पोर्टल में पंजीकरण के बाद ही स्नातक, स्नातकोत्तर व अन्य कोर्स में प्रवेश लेने वाले छात्र परीक्षा फार्म जमा कर सकेंगे। इस संबंध में मंगलवार को सीएसजेएमयू में कानपुर नगर व देहात में संचालित महाविद्यालयों के प्रबंधन व प्राचार्यों का प्रशिक्षण हुआ। सिस्टम मैनेजर डॉ. सरोज द्विवेदी ने बताया कि प्रवेश के लिए वेब रजिस्ट्रेशन नंबर (डब्ल्यूआरएन) की तरह परीक्षा आवेदन के लिए नेड पोर्टल में पंजीकरण अनिवार्य कर दिया गया है। इसमें परीक्षा देने वाले छात्रों का पूरा ब्योरा होगा।

इसके अलावा परीक्षा में प्राप्त अंक, मार्कशीट व डिग्री से भी इसे जोड़ा जाएगा। अपने शैक्षणिक प्रपत्र देखने के लिए छात्रों को आइडी व पासवर्ड दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश स्ववित्तपोषित महाविद्यालय एसोसिएशन के अध्यक्ष विनय त्रिवेदी व डॉ. बृजेश भदौरिया इस संबंध में परीक्षा नियंत्रक अनिल यादव से मिले। विनय त्रिवेदी ने बताया कि विश्वविद्यालय से संबद्ध डिग्री कॉलेजों में अध्ययनरत करीब दस लाख में छह लाख छात्र-छात्राएं ग्रामीण क्षेत्रों से हैं। ऐसे छात्रों का पोर्टल में पंजीकरण कॉलेज ही कराएंगे।

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप