कानपुर, जेएनएन। कोरोना से बचने और वैक्सीनेशन की महत्ता के लिए देश भर में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। बिना वैक्सीन के कोरोना संक्रमण से मुकाबला करना आसान नहीं है। मुस्लिमों को वैक्सीनेशन के लिए जागरूक करने को उलमा आगे आने लगे हैं। जल्द ही वैक्सीनेशन को लेकर बड़े पैमाने पर अभियान शुरू किया जाएगा। वैक्सीन को लेकर मुस्लिमों में फैली भ्रांतियों को दूर किया जाएगा। मस्जिदों से अपील किए जाने के साथ-साथ नमाजियों को भी वैक्सीन के लाभ बताए जाएंंगे।

कोरोना से बचाव की वैक्सीन लगवाने में मुस्लिमों की फीसद काफी कम है। एक अनुमान के मुताबिक 10 से 15 फीसद ही मुस्लिम कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन करा रहे हैं। ज्यादा से ज्यादा मुस्लिमों को वैक्सीन लग सके इसके लिए उलमा अभियान चलाने की तैयारी कर रहे हैं। उलमाओं ने इसके लिए कमिश्नर से बात भी की है। मुस्लिम आबादी वाले इलाकों में वैक्सीनेशन के कैंप लगाने का अनुरोध किया गया है। कैंपों में उलमा बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेंगे और लोगों को जागरूक भी करेंगे। वहीं, उलमा भी वैक्सीन लगवाएंगे। के महासचिव हाजी मोहम्मद सलीस बताते हैं कि मुस्लिमों में वैक्सीनेशन का फीसद बढ़ाया जाएगा। इसके लिए मस्जिदों से अपील भी की जाएगी, लोगों को जागरूक करने के लिए उलमा खुद नेतृत्व करेंगे। मोहम्मदिया अस्पताल, हलीम कालेज सहित घनी आबादी वाले अन्य स्थानों पर वैक्सीन के लिए कैंप लगाने की भी बात चल रही है। वैक्सीन को लेकर शुरू होने वाली मुहिम से शहरकाजियों को भी जोड़ा जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप