कानपुर, जेएनएन। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के मल्टी सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में वाहन खड़ा करने के लिए परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। हैलट के जीटी रोड साइड में पांच मंजिला मल्टी लेवल पार्किंग बनेगी। जहां डॉक्टरों के अलावा मरीजों के भी वाहन वहां खड़े हो सकेंगे। इसके लिए कॉलेज प्रशासन ने 40 करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार कराकर शासन को भेजा है। 

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के हैलट अस्पताल के जीटी रोड साइड में केंद्र सरकार के सहयोग से प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना () के तहत मल्टी सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक निर्माणाधीन है। ताकि मेडिकल कॉलेज को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स दिल्ली) की तर्ज पर अपग्रेड किया जा सके। इसलिए यहां आठ सुपर स्पेशियलिटी विभाग बनाए जा रहे हैं, जहां 240 बेड में से 48 बेड का आइसीयू होगा। यहां हर तरह के मरीज इलाज के लिए आएंगे। 

पार्किंग की सुविधा न होने पर एतराज

केंद्र सरकार की टीम जब निरीक्षण के लिए आई थी। पार्किंग की सुविधा न होने पर एतराज जताया था। इस पर मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने ब्लॉक के बगल में स्थित जर्जर नर्सिंग हॉस्टल की भूमि पर मल्टीलेवल पार्किंग का प्रस्ताव तैयार कराकर भेजा है। जहां पांच मंजिल की मल्टी लेवल पार्किंग बनाई जाएगी। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. आरबी कमल ने बताया कि हैलट अस्पताल परिसर स्थित नर्सिंग हॉस्टल जर्जर है। उसका मूल्यांकन कराकर निष्प्रोज्य घोषित करा दिया है। वहां रहने वाले कर्मचारियों को खाली करने का नोटिस भी जारी किया गया है।

इनका ये है कहना 

मल्टी सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक के बगल में डॉक्टरों एवं मरीजों के वाहनों के लिए मल्टी लेवल पार्किंग बनाने का प्रस्ताव शासन को भेजा है।इसके लिए 40 करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार कराया गया है। इसके लिए प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत धनराशि मिलेगी। पार्किंग के लिए नर्सिंग हॉस्टल के जर्जर भवन की जगह चिह्नित की गई है। - प्रो. आरबी कमल, प्राचार्य, जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज। 

Edited By: Shaswat Gupta