कानपुर, [राजीव सक्सेना]। शहर में मेट्रो की अंडरग्राउंड टनल बनाने के लिए तुर्की से आई गुलेरमॉक कंपनी की टीम इस समय दिल्ली में क्वारंटाइन है। विदेश से आने और कोरोना नियमों की वजह से उन्हें पृथकवास में रखा गया है। मेट्रो के अधिकारियों के मुताबिक उनके अगले सप्ताह कानपुर आने की उम्मीद है। इसके बाद अंडरग्राउंड मेट्रो के लिए डिजाइन पर कार्य शुरू हो जाएगा।

मेट्रो की अंडरग्राउंड टनल, अंडरग्राउंड स्टेशन बनाने और उनकी फिनिशिंग करने का टेंडर सैम इंडिया गुलेरमॉक को मिला है। इसमें सैम इंडिया भारतीय कंपनी है जबकि गुलेरमॉक तुर्की की कंपनी है। इन दोनों कंपनी ने मिलकर लखनऊ में भी अंडरग्राउंड स्टेशन और टनल बनाया है। पिछले सप्ताह ही अंडरग्राउंड टनल और स्टेशन बनाने के लिए वर्क ऑर्डर भी जारी हो गया है। अब मेट्रो ने कंपनी को अपना कार्य शुरू करने के लिए कह दिया है। सैम इंडिया की पूरी टीम पहले से ही भारत में है, अब तुर्की के अधिकारी भी आना शुरू हो गए हैं। पिछले सप्ताह तुर्की के करीब आधा दर्जन अधिकारियों की टीम भारत आई थी लेकिन कोरोना के नियमों के चलते उन्हें क्वारंटाइन किया गया है।

सैम इंडिया गुलेरमॉक को चुन्नीगंज, नवीन मार्केट, बड़ा चौराहा, नयागंज स्टेशन बनाने हैं। इनके लिए टनल का कार्य सीसामऊ नाले के बाद बीआइसी की जमीन से शुरू होगा। सीसामऊ नाले पर स्टील स्पैन डाला जाएगा, उसके बाद के रैंप का कार्य भी सैम इंडिया गुलेरमॉक को करना है। मेट्रो अधिकारियों के मुताबिक तुर्की के अधिकारियों के कानपुर आने के बाद जनरल कांट्रेक्टर के साथ जो उनकी मीङ्क्षटग होगी, उसके हिसाब से ही टनल की डिजाइन तय की जाएगी। कंपनी को अगले तीन वर्ष में यह कार्य पूरा करना है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप